एफबी पर पोस्ट नौकरी के रास्ते में बन सकता है रोड़ा

Facebookनई दिल्ली। यदि आप सोशल मीडिया पर सक्रिय हैं और साथ ही नौकरी की तलाश में हैं, तो आपको काफी सावधान रहने की जरूरत है। सोशल मीडिया पर आपका कोई पोस्ट या किसी दूसरे व्यक्ति द्वारा आपके बारे में की गई टिप्पणी, आपकी नौकरी की राह में बाधा बन सकते हैं। आज बहुत सी कंपनियां नौकरी के लिए आवेदन करने वाले की पृष्ठभूमि की जांच के लिए सोशल मीडिया पर जानकारी ले रही हैं। यदि सोशल मीडिया पर किसी उम्मीदवार के बारे में कंपनी को नकारात्मक ब्योरा मिलता है, तो उसका आवेदन रद्द कर दिया जाता है। एक सर्वेक्षण में यह तथ्य सामने आया है। जॉब साइट करियरबिल्डर इंडिया के अनुसार करीब 59 फीसद कंपनियां किसी उम्मीदवार के बारे में पड़ताल करने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर रही हैं। वहीं 33 प्रतिशत अन्य कंपनियां भी जल्द इस प्लेटफार्म का इस्तेमाल करने का इरादा रखती हैं। सर्वेक्षण में एक दिलचस्प तथ्य यह सामने आया है कि सोशल मीडिया पर आवेदकों की पड़ताल करने वाली 68 फीसद कंपनियों को उम्मीदवार के बारे में ऐसी सामग्री मिली जिसकी वजह से उन्होंने उस व्यक्ति को नौकरी नहीं देने फैसला किया। इस सर्वेक्षण के निष्कर्ष देश की 1,200 कंपनियों से मिली प्रतिक्रिया पर आधारित है। सर्वेक्षण में एक और तथ्य सामने आया है कि करीब 75 फीसदी नियोक्ता किसी संभावित पद के उम्मीदवार को ढूंढने के लिए सर्च इंजन गूगल का सहारा ले रहे हैं। कंपनियों द्वारा किसी व्यक्ति का आवदेन खारिज करने की वजहों में उसके द्वारा अपनी शैक्षणिक योग्यता के बारे में गलत जानकारी देना (50 प्रतिशत), अपनी बात पेश करने की क्षमता में कमी (50 प्रतिशत), पोस्ट पर कोई अनुचित फोटो या जानकारी डालना (47 फीसदी), पूर्व नियोक्ता की किसी गोपनीय जानकारी को साझा करना (42 प्रतिशत) शामिल है। इसके अलावा यदि आवेदक ने अपनी शराब पीने या ड्रग लेने की आदत के बारे में पोस्ट किया हो, किसी तरह के आपराधिक व्यवहार में शामिल रहा हो और पुरानी कंपनी या अपने पुराने सहयोगियों के बारे में उलटा सीधा पोस्ट किया हो। करियरबिल्डर की मानव संसाधन उपाध्यक्ष रोजमैरी हेफनर ने कहा, नौकरी चाहने वालों को यह समझना चाहिए कि उन्होंने इंटरनेट पर क्या पोस्ट किया है या उनके बारे में दूसरों ने क्या लिखा है, दोनों ही महत्वपूर्ण हैं। इससे उनकी नौकरी पाने की क्षमता पर असर पड़ सकता है। हालांकि, कई कंपनियों ने कहा कि यदि उन्हें किसी उम्मीदवार की पृष्ठभूमि के बारे में सोशल मीडिया से अच्छी जानकारी मिलती है, तो वे उसे नौकरी देना पसंद करते हैं।