एसओ ने महिला ‌सिपाही को दिखाई अश्लील क्लिप

mms-538ea4dd7339a_exlstविभूति खंड थाने में महिला कांस्टेबल को अश्लील क्लिप दिखाकर छेड़खानी के मामले में विशाखा कमेटी ने तत्कालीन एसओ पंकज सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की सिफारिश की है।

प्रभारी एसएसपी ने इंस्पेक्टर विभूति खंड को मुकदमा दर्ज कर तफ्तीश के आदेश दिए हैं। अश्लीलता के आरोपी एसओ पंकज सिंह का तबादला कर अफसरों ने मामला ठंडे बस्ते में डाल दिया था।

पुलिस के मुताबिक, विभूति खंड थाने में तैनात एक महिला कांस्टेबल ने जनवरी 14 में एसओ पंकज सिंह की करतूत को फेसबुक पर उजागर किया था।

आरोप था कि एसओ पंकज सिंह ने उसे अपने कक्ष में बुलाकर मोबाइल पर अश्लील क्लिप दिखाई। इस मामले में ठोस कार्रवाई के बजाय तत्कालीन एसएसपी ने सीओ बबिता सिंह को जांच सौंपी।

मामला तूल पकड़ने पर पंकज सिंह को हटा दिया गया। कुछ दिनों बाद उसका बाराबंकी तबादला कर मामला ठंडे बस्ते में डाल दिया गया। अपमान से क्षुब्ध महिला कांस्टेबल ने आला अफसरों से शिकायत की।

मामले की जांच विशाखा कमेटी को सौंप दी गई। उन्नाव की तत्कालीन एसपी सोनिया सिंह, तत्कालीन सीओ कैंट बबिता सिंह समेत तीन सदस्यीय कमेटी ने जांच के बाद पंकज सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की सिफारिश की।

सूत्रों का कहना है कि मुकदमे की सिफारिश की भनक लगने पर पंकज सिंह के करीबी लोगों ने एसएसपी से पैरवी की और विभूति खंड पुलिस कई दिन से रिपोर्ट दर्ज नहीं कर रही थी। इससे आहत महिला कांस्टेबल ने एसएसपी यशस्वी यादव के हटते ही उच्चाधिकारियों से गुहार लगाई।

इस पर डीआईजी/प्रभारी एसएसपी आरके चतुर्वेदी ने विशाखा कमेटी की सिफारिश की फाइल तलब की और इंस्पेक्टर विभूति खंड को मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए। इसके बावजूद विभूति खंड पुलिस ने रात तक रिपोर्ट नहीं लिखी थी।