आरपीएफ ने पकड़ा वर्दी वाला चोर ,निकलने के लिए आरपीएफ पुलिस की वर्दी का लेता था सहारा

vlcsnap-2015-05-22-17h55m03s121इलाहाबाद:-इलाहाबाद रेलवे की आरपीएफ पुलिस ने एक ऐसे शातिर चोर को पकड़ा है, जो आरपीएफ पुलिस की वर्दी पहनकर चलती ट्रेनों और रेलवे प्लेटफॉर्म्स पर मुसाफिरों के कीमती सामान चोरी करता था। दिल्ली में रहने वाला यह चोर पिछले कई सालों से खाकी वर्दी पहनकर चोरी की वारदातों को अंजाम दे रहा है। आरपीएफ पुलिस ने इसके पास से चार मोबाइल फोन, तीन भरे हुए बैग व कई दूसरे सामान बरामद किये हैं। रेलवे पुलिस ने इसे उस वक्त गिरफ्तार किया, जब वह दिल्ली से इलाहाबाद आने वाली प्रयागराज एक्सप्रेस ट्रेन के दो मुसाफिरों के तीन बैग व दो मोबाइल चोरी कर सूबेदारगंज रेलवे स्टेशन पर उतरकर भागने की फिराक में था। चोर और पुलिस के किस्से तो आपने बहुत सुने होंगे, लेकिन वर्दी वाला चोर शायद पहली बार देख रहे होंगे। चोर भी खाकी वर्दी में और उसे पकड़ने वाली पुलिस भी खाकी में। साथ खड़े हो जाएं तो पता करना मुश्किल कि कौन है चोर और कौन पुलिस।
vlcsnap-2015-05-22-17h55m15s235 बहरहाल रेलवे पुलिस की कस्टडी में मौजूद इस वर्दी वाले चोर का नाम राम सिंह उर्फ़ टाइगर उर्फ़ चुलबुल है। मूलरूप से यूपी के फतेहपुर का रहने वाला यह चोर पिछले पंद्रह सालों से दिल्ली में रह रहा है। राम सिंह उर्फ़ टाइगर उर्फ़ चुलबुल पिछले कई सालों से ट्रेनों और रेलवे प्लेटफॉर्म्स पर मौजूद मुसाफिरों को अपना निशाना बनाता आ रहा है। यह पलक झपकते ही मुसाफिरों का बैग, मोबाइल व दूसरे बेशकीमती सामान लेकर नौ दो ग्यारह हो जाता है।
पुलिस की खाकी वर्दी यह इसलिए पहनता है ताकि कोई उस पर शक न करे और पकडे जाने पर यह मुसाफिरों पर धौंस जमाकर बच निकले। रेलवे पुलिस ने आज इलाहाबाद के सूबेदारगंज रेलवे स्टेशन पर इसे उस वक्त गिरफ्तार किया जब यह नई दिल्ली से आने वाली प्रयागराज एक्सप्रेस ट्रेन की स्लीपर बोगी से तीन बैग व दो मोबाइल चोरी कर भागने की फिराक में था। पकडे जाने के बाद चुलबुल उर्फ़ राम सिंह खुद को बेक़सूर बताता रहा जबकि रेलवे पुलिस को आशंका है कि इस तरह का काम यह दूसरे लोगों के साथ गैंग बनाकर कर रहा होगा। रेलवे पुलिस अब इस वर्दी वाले चोर को रिमांड पर लेकर इसके नेटवर्क का गहराई से पता लगाने की कोशिश में है। रेलवे पुलिस के अफसर भी मानते हैं कि वर्दी पहने हुए ऐसे शातिर चोरों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार कर पाना मुश्किल काम है।