पूर्व आप नेता का सनसनीखेज दावा, दिल्ली में लग सकता है राष्ट्रपति शासन

नई दिल्ली। रामलीला मैदान आयोजित स्वराज इंडिया की रैली में वरिष्ठ वकील शांति भूषण ने दिल्ली सरकार को लेकर ऐसी बात कह दी है, जो मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की चिंता बढ़ा सकती है।
पूर्व कानून मंत्री व जानेमाने वकील शांति भूषण ने आशंका व्यक्त की है कि 2017 में किसी भी समय दिल्ली की केजरीवाल सरकार बर्खास्त हो सकती है। उन्होंने इस आशंका का आधार दिल्ली की आप सरकार द्वारा कानून का पालन न करना बताया।
उन्होंने कहा कि जिस तरह से अप सरकार ने कानून की धज्जियां उड़ाई हैं। कानून के एक जानकार के नाते यह बात वह दावे के साथ कह सकते हैं कि इस साल में केजरीवाल सरकार कभी भी बर्खास्त होगी।
अधिकारों की लड़ाई सुप्रीम कोर्ट में हारेगी आम आदमी पार्टी सरकार
अधिकारों की लड़ाई के सुप्रीम कोर्ट में चल रहे मुकदमे के बारे में उन्होंने टिप्पणी की कि केजरीवाल की सरकार वहां भी मुकदमा हारेगी, क्योंकि इस मामले में हाई कोर्ट केजरीवाल सरकार के खिलाफ फैसला दे चुकी है। इस मामले को केजरीवाल सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट ले जाया गया है। मगर सुप्रीम कोर्ट में केजरीवाल के समर्थन में कुछ भी तथ्य नहीं हैं।
केजरीवाल को पहचानने में हुई गलती
केजरीवाल के बारे में बोलते हुए आहत दिखे वरिष्ठ अधिवक्ता शांति भूषण ने फिर दोहराया कि केजरीवाल को पहचानने में उन्होंने बड़ी गलती की। दरअसल, वह समझ नहीं पाए कि केजरीवाल अपने मन में दिल्ली का मुख्यमंत्री बनने का सपना पाले हुए थे। वह मुझसे हर समय समाज सेवा का बातें करते थे।
केजरीवाल PM बनना तो दूर, विधायक भी नहीं रह पाएंगे
उन्होंने कहा कि केजरीवाल 2019 में प्रधानमंत्री बनने का सपना पाले हुए हैं, लेकिन वह प्रधानमंत्री तो दूर, तब तक विधायक भी नहीं रह पाएंगे। उन्होंने कहा कि केजरीवाल कह रहे हैं कि सट्टा बाजार कह रहा है कि वह पंजाब और गोवा चुनाव जीत रहे हैं। वहीं बूथ स्तर की रिपोर्ट कह रही है कि वह पंजाब और गोवा दोनों जगह चुनाव हार रहे हैं।