तीन साल से बच्चियों का यौन शोषण कर रहा था केंद्रीय विद्यालय का प्रिंसिपल

बंगलूरू में केंद्रीय विद्यालय के प्रिसिंपल को घिनौनी हरकत करने के आरोप में सस्पेंड कर दिया गया। एक्स प्रिंसिपल का नाम कुमार ठाकुर है और उसके खिलाफ एक बच्ची के यौन शोषण की वजह से ये बड़ा कदम उठाया गया है। बताया जा रहा है कि वो तीन साल से स्कूल की लड़कियों को अपना शिकार बना रहा था।

केंद्रीय विद्यालय संगठन ने बताया कि केवीएस रिजनल ऑफिस के डिप्टी कमीश्नर की ओर से बनाई गई जांच समिति ने प्रिंसिपल के इस कारण गिरफ्तार भी करने का फैसला दिया था, लेकिन उन्हेंबाद में बेल पर छोड़ दिया गया और दूसरे स्कूल में ट्रांसफर कर दिया गया है।
ऐसे हुआ खुलासा

ठाकुर को प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड फ्रॉम सेक्सुयल ऑफेन्स (पोस्को) के तहत गिरफ्तार किया गया था। 2 फरवरी को बच्चों के अधिकारों की रक्षा करने वाले कर्नाटक स्टेट कमीशन ने ठाकुर के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज की।
टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक वो करीब तीन साल से 10 और 12 क्लास की लड़कियों का यौन शोषण कर रहा था।