पाकिस्तानी खिलाड़ी शाहिद अफरीदी ने लिया संन्यास, इस रिकॉर्ड से बनाई थी अलग पहचान

पाकिस्तान के दिग्गज खिलाड़ी और पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से रिटायरमेंट का एलान कर दिया है। इस धुआंधार ऑलराउंडर ने रविवार (19 फरवरी) को अपने 21 साल के लंबे अंतरराष्ट्री य क्रिकेट करियर पर विराम लगा दिया।
अफरीदी टेस्ट और वनडे क्रिकेट को पहले ही अलविदा कह चुके थे और सिर्फ टी-20 क्रिकेट खेल रहे थे। अफरीदी ने साल 2016 में भारत में हुई वर्ल्ड टी20 चैंपियनशिप में पाकिस्ताेन की कप्तानी भी की थी। इस टूर्नामेंट के बाद उन्होंने पाकिस्तान टीम की कप्तानी छोड़ दी थी लेकिन खेलते रहने की बात की थी। हालांकि तभी से ही अफरीदी के संन्यास लेने के अटकलें लगाई जाने लगी थी।

अफरीदी ने जमाया था सबसे तेज़ शतक

शाहिद अफरीदी साल 1996 में तब सुर्खियों में आए थे जब उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ वनडे में सिर्फ 37 गेंद में शतक जमाकर विश्व क्रिकेट में तहलका मचा दिया था। इतना ही नहीं अफरीदी ने इस कमाल को अपने दूसरे ही वनडे मैच में कर दिया था। अफरीदी की इस तूफानी सेंचुरी का रिकॉर्ड 17 साल तक बरकरार रहा था।

बल्ले के साथ-साथ शाहिद अफरीदी गेंद से भी कमाल करने में माहिर रहे। उनकी अपनी गेंदबाज़ी की बदौलत भी पाकिस्तान की झोली में बहुत सी जीत डाली। इसमें साल 2009 का वर्ल्ड टी20 जीतना भी शामिल है। बल्लेबाज़ी में जिस तरह अफरीदी अपने छक्के मारने के स्टाइल के लिए जाने जाते ठीक उसी तरह स्पिन गेंदबाज़ी करते हुए तेज़ गेंद फेंकने की उनकी कला बल्लेबाज़ों को होश उड़ा देती थी।

अफरीदी ने पाकिस्तान की तरफ से खेलते हुए 27 टेस्ट़ में 1176 रन बनाए और 48 विकेट झटके। उनका बेस्ट स्कोेर 156 रन है। वहीं 398 वनडे में उन्होंएने 8064 रन बनाए और 395 विकेट लिए। टी20 क्रिकेट में अफरीदी ने 1405 रन बनाए और 97 विकेट लिए। वनडे क्रिकेट में सर्वाधिक छक्के लगाने का रिकॉर्ड भी शाहिद अफरीदी के ही नाम है।