All posts by vaishali rane

फिर बनेंगे धोनी कप्तान, विजय हजारे ट्रॉफी में संभालेंगे झारखंड टीम की कमान…

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी क्रिकेट के मैदान में एक फिर से कप्तानी करते नजर आएगें। धोनी घरेलू टूर्नामेंट विजय हजारे ट्रॉफी में झारखंड टीम की कप्तानी करेंगे।

हाल ही में उन्हें आईपीएल सीजन 10 के नीलामी से ठीक एक दिन पहले राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स टीम की कप्तानी से हटा दिया गया था पर ये खबर उनके फैंस के लिए खुशी देने वाली है।

गौरतलब है कि धोनी ने इंग्लैंड सीरीज के पहले टीम इंडिया की वनडे और टी20 टीम की कप्तानी छोड़ने का फैसला किया था। इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी बार अभ्यास मैच में धोनी टीम की कप्तानी करते दिखे थे।

आपको बता दें कि पिछले दो सीजन में झारखंड के लिए खेलते हुए धोनी ने कभी भी टीम की अगुवाई नहीं की लेकिन इस बार उन्होंने जिम्मेदारी निभाने का बीड़ा उठाया। राष्ट्रीय चैम्पियनशिप के लिए यह झारखंड की मजबूत टीम होगी। धोनी के अलावा उनके पास विस्फोटक इशान किशन और घरेलू सत्र के शीर्ष स्पिनर शाहबाज नदीम टीम में हैं।

इशांक जग्गी और वरूण आरोन भी उनकी टीम में हैं, जिन्हें हाल में आईपीएल अनुबंध मिला है। इसके अलावा उनके पास सौरभ तिवारी और युवा विराट सिंह भी हैं।

टीम इस प्रकार है: महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान), इशान किशन, इशांक जग्गी, विराट सिंह, सौरभ तिवारी, कौशल सिंह, प्रत्यूष सिंह, शाहबाज नदीम, सोनू कुमार सिंह, वरूण आरोन, राहुल शुक्ला, अनुकुल राय, मोनू कुमार सिंह, जसकरण सिंह, आनंद सिंह, कुमार देवब्रत, एस राठौड़, विकास सिंह.

फिल्म ‘ट्यूबलाइट’ में सलमान की एक्टिंग के साथ दिखेगा यूलिया के सिंगिंग का टैलेंट..

सलमान खान की दरियादिली तो जगजाहिर है औऱ जब वह किसी से खुश होते है तो उनके लिए कुछ भी करने से पीछे नहीं हटते है। फिर चाहे बात उनके दोस्तो की हो या फैमिली की सलमान हमेशा उनके लिए खड़े रहते है।

बॉलीवुड में न्यूकमर्स और न्यू टैलेंट को सबसे ज्यादा सलमान खान ही प्रमोट करते है। यहां बात हो रही है सलमान खान की खास दोस्त यूलिया की। अब जब दोस्ती खास है तो किसी खास खबर का आना तो बनता है। खबर यह है कि सलमान खान की फिल्म ट्यूबलाइट में एक खास गाना होगा जिसे यूलिया अपनी आवाज देगी।

सलमान की फिल्म में गाने को मौका यूलिया के लिए एक बड़ी खुशखबरी होगी। लेकिन दोस्ती से ज्यादा यूलिया को ये मौका अपने टैलेंट की वजह से मिला है। यूलिया एक अच्छी सिंगर है। पिछले दिनों हिमेश रेशमिया के साथ यूलिया का एक गाना आया था जिसमें उनकी आवाज को बेहद पसंद किया गया था। इस गाने का टाइटल था ‘Every Night And Day’. यहीं नहीं वह हिन्दी को लकर भी बहुत सहज है। अब इतने अच्छे सिंगिग फीडबैक के बाद एक मौका मिलना तो बनता ही है।

गाने के बोल के बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं मिली है, लेकिन यूलिया की आवाज को देखते हुए यह उम्मीद की जा सकती है कि वह एक खूबसुरत रोमांटिक गाने को अपनी आवाज देगी। 

‘बाहुबली 2’ की हीरोइन तमन्ना का खुला एक पुराना राज़, जानकर रह जाएंगे दंग..

तकनीकी रूप से देखा जाए तो तमन्ना की ये फ़िल्म भी हिंदी भाषाई नहीं थी। पिछले साल तमन्ना सोनू सूद और प्रभु देवा के साथ ‘तूतक तूतक तूतिया’ में बतौर फ़ीमेल लीड दिखाई दीं।मुंबई। ‘बाहुबली- द बिगिनिंग’ में बाहुबली के साथ प्यार और जंग में कंधा से कंधा मिलाकर लड़ने वाली अवंतिका का किरदार तमन्ना भाटिया ने निभाया था। मिल्की व्हाइट तमन्ना की अदाकारी और ख़ूबसूरती ने आपको भी इंप्रेस किया होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि तमन्ना का हिंदी सिनेमा के बहुत पुराना नाता है और आज तक उन्होंने एक भी हिट हिंदी फ़िल्म में काम नहीं किया है। ‘बाहुबली’ ने तमन्ना को देशभर में शोहरत तो दिलवाई, लेकिन इससे उनकी फ़िल्मों को दर्शक नहीं मिले। ‘बाहुबली- द कन्क्लूज़न’ इस साल की मोस्ट अवेटिड फ़िल्मों में शामिल है। पहले पार्ट के मुक़ाबले दूसरे पार्ट में तमन्ना का काम कम होगा, जबकि दूसरी लीडिंग लेडी अनुष्का शेट्टी ‘बाहुबली 2’ में ज़्यादा नज़र आएंगी। फिलहाल हम आपको तमन्ना के बारे में जानकारी देते हैं। तमन्ना को ज़्यादातर दर्शक दक्षिण भारतीय सिनेमा की एक्ट्रेस समझते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है।

तमन्ना ने अपने करियर की शुरुआत हिंदी सिनेमा से की। 2005 में उन्होंने ‘चांद से रोशन चेहरा’ फ़िल्म से डेब्यू किया था, लेकिन ये फ़िल्म बुरी तरह फ़्लॉप रही और तमन्ना ने इसके बाद सीधे साउथ इंडिया की ट्रेन पकड़ ली, जहां उनकी हर एक तमन्ना पूरी हुई।

दक्षिण भारतीय भाषाओं की फ़िल्मों में तमन्ना ने कई हिट फ़िल्में दीं और वहां के तक़रीबन सभी सुपरस्टार्स के साथ स्क्रीन स्पेस शेयर किया। साउथ सिनेमा में बड़ा नाम कमाने के बाद तमन्ना हिंदी सिनेमा में अधूरी रह गई ख़्वाहिश को पूरा करने के इरादे से एक बार फिर मुंबई लौटीं। 2013 में तमन्ना ने साजिद ख़ान के निर्देशन में बनी फ़िल्म ‘हिम्मतवाला’ से अजय देवगन जैसे सुपरस्टार के साथ कमबैक किया।

उस वक़्त साजिद ने मीडिया को बताया था कि तमन्ना उनकी फ़िल्म से हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री में डेब्यू कर रही हैं, जबकि इस बात को छिपा लिया था कि वो पहले भी हिंदी सिनेमा में क़िस्मत आज़मा चुकी हैं। इसके बाद तमन्ना साजिद की फ़िल्म ‘हमशकल्स’ में फ़ीमेल लीड में नज़र आईं, जो 2014 में रिलीज़ हुई। ये दोनों फ़िल्में बॉक्स ऑफ़िस पर फ़्लॉप रहीं। 2014 में ही तमन्ना अक्षय कुमार के साथ ‘एंटरटेनमेंट’ में दिखाई दीं। ये फ़िल्म औसत रही।

फिर 2015 में आई ‘बाहुबली- द बिगिनिंग’। कहने को तो ये फ़िल्म तमिल और तेलुगु भाषाओं के दर्शकों के लिए बनाई गई थी, लेकिन इसके हिंदी डब वर्ज़न ने देशभर में धूम मचा दी। तकनीकी रूप से देखा जाए तो तमन्ना की ये फ़िल्म भी हिंदी भाषाई नहीं थी। पिछले साल तमन्ना सोनू सूद और प्रभु देवा के साथ ‘तूतक तूतक तूतिया’ में बतौर फ़ीमेल लीड दिखाई दीं, लेकिन ये फ़िल्म भी नहीं चली। फ़्लॉप होने के बावजूद हिट है तमन्ना का करियर।

 

कंगना रनौत : करियर तक बर्बाद करने की धमकी मिल चुकी है मुझे…

कंगना- ‘मेरा समय मुश्किल भरा था लेकिन मैं उससे भयभीत नहीं हुई क्योंकि मुझे पता है कि मैंने कुछ गलत नहीं किया।

कंगना रनौत अपनी स्टाइल और अपने ड्रेसिंग सेन्स के अलावा जिस चीज़ के लिए जानी जाती है तो वो है उनका बेपरवाह और बिंदास होकर अपनी बात कहने का ढंग। कंगना ने वैसे तो यह साफ़ कर दिया है कि उनके और रितिक रोशन के बीच जो भी विवाद था वह अब बीते दिनों की बात है। लेकिन, कंगना ने इस पूरे मामले को एक सबक की तरह याद रखा है और उस बात को याद कर आज भी भावुक हो जाती हैं। बता दें कि 24 फरवरी को कंगना की फ़िल्म ‘रंगून’ रिलीज़ हो रही है। जिसमें उनके साथ सैफ अली ख़ान और शाहिद कपूर मुख्य भूमिका में हैं। इसी सिलसिले में वो फ़िल्म प्रमोशन के लिए लगातार यात्राएं कर रही हैं और लगातार मीडिया से रूबरू हो रही हैं। कंगना-रितिक विवाद पर कंगना ने कहा कि इंडस्ट्री के कई लोगों ने उन्हें पब्लिक में कुछ भी कहने से बचने की सलाह दी थी और सब कुछ बंद दरवाजे के पीछे निपटाने को कहा था। कंगना ने समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा, मुझे कई बड़े लोगों के घर बुलाया गया। उन्होंने कहा, ‘मेरा समय मुश्किल भरा था लेकिन मैं उससे भयभीत नहीं हुई क्योंकि मुझे पता है कि मैंने कुछ गलत नहीं किया।’ हालांकि, कंगना ने यह भी साफ़ कर दिया कि अब वो बात पूरी तरह से समाप्त हो चुकी है और इस को बार-बार नहीं उठाया जाना चाहिए।

 

यूपी चुनावः बुंदेलखंड में डाकुओं के फरमान नहीं चल रहे जातिवाद के जहर बुझे तीर………

जहां कभी डाकुओं के फरमान और गोलियों की गूंज से चुनावी भाग्य के फैसले होते थे अब वहां जातिवाद के जहरबुझे तीर से सियासी लड़ाई जीतने की कोशिश खुलेआम हो रही है।  बांदा (जेएनएन)। जहां कभी डाकुओं के फरमान और गोलियों की गूंज से चुनावी भाग्य के फैसले होते थे अब वहां जातिवाद के जहरबुझे तीर से सियासी लड़ाई जीतने की कोशिश खुलेआम हो रही है। राजनीतिक दलों ने इसे सोशल इंजीनियरिंग का नाम दे दिया है। अदालत और चुनाव आयोग के आदेश बेमानी हो गए हैं। बांदा से नेशनल ब्यूरो के उप प्रमुख सुरेंद्र प्रताप सिंह- ‘लड़ै कोई जीतिहैं विवेकै। इस बार यह जुमला खतरे में है। तीन बार से यहां के विधायक रहे कांग्रेस के प्रत्याशी के लिए इस बार के बनते बिगड़ते समीकरण और सत्ता विरोधी लहर उनके लिए गंभीर खतरा बन चुकी हैं। भाजपा प्रत्याशी प्रकाश द्विवेदी उनके लिए मुश्किलें पेश कर रहे हैं। वहीं सपा ने जिस मुस्लिम प्रत्याशी के नाम की घोषणा पहले ही कर दी थी, उसकी नाराजगी का नजला भी उन्हीं पर गिर रहा है। बांदा सदर और तिंदवारी जैसी ठाकुर बहुल सीटें कांग्रेस के पास हैं, जिसे बचाने में कांग्रेस को पसीने छूट रहे हैं। सोशल इंजीनियरिंग के तहत भाजपा ने तिंदवारी में प्रजापति उम्मीदवार उतारा है।

जबकि यहां निषाद और ठाकुरों का प्रभुत्व रहा है। यहां से 11 बार ठाकुर और सात बार निषाद चुनाव जीते हैं। जाहिर है भाजपा इन दो जातियों के प्रभुत्व के खिलाफ उपजे असंतोष का फायदा उठाना चाहती है। बसपा से आये ब्रजेश प्रजापति को भाजपा ने उम्मीदवार बनाया है, जिन्हें जिताने के लिए स्वामी प्रसाद मौर्या ने एड़ी चोटी का जोर लगा दिया है। बांदा जिले की चार विधानसभा सीट सदर, नरैनी, तिंदवारी और बबेरू में से दो सीटें कांग्रेस के पास हैं। जबकि एक-एक सीट सपा और बसपा के पास है। तिदंवारी के सुमेर बाबू का कहना है ‘लोगों का मन बदला है। 1991 से सपा और बसपा का राजकाज देखि देखि सब उबियाय गये हैं। बहुत दिनां बाद बीजेपी और मोदी जैसा विकल्प मिला है। दिल्ली जैसे लखनऊ में भी कुछ कइन दीहैं।

वहीं तिंदवारी सीट है, जहां से वीपी सिंह चुनाव जीते तो उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने थे। बांदा में भाजपा इस बार सभी सीटों पर अच्छी लड़ाई लड़ रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लोगों की बड़ी उम्मीदें हैं। बड़ी जातियों से कहीं ज्यादा छोटी व पिछड़ी जातियों में ‘मोदी का क्रेज है। उन्हें लगता है कि सरकारी धन की चोरी करने वाले धन्नासेठ जरूर पकड़े जायेंगे। चित्रकूट जिले की दोनों सीटें हैं तो ब्राह्मïण बाहुल्य लेकिन दोनों सीटों पर पिछड़ी जातियो का कब्जा रहा है। ददुआ जैसे खूंखार डकैत का भाई, भतीजा और बेटे समेत कई और परिवारी जन राजनीति के मैदान में हैं। उसका बेटा वीर सिंह समाजवादी पार्टी का चित्रकूट से विधायक है। उसके खिलाफ बसपा और भाजपा दोनों ने ब्राह्मïण उम्मीदवार उतारा है। विधायक के कामकाज के तौर तरीके से यहां व्यापारी और कारोबारी सख्त खफा हैं l

दलित समूह से कोरी, खटिक, बाल्मीक, पासी और कोल जैसी जातियां बिखर रही हैं जो बसपा को कमजोर कर सकती हैं। मानिकपुर विधानसभा सीट पर कभी बसपा के दिग्गज रहे आरके पटेल ने भाजपा के उम्मीदवार है। उनका मुकाबला कांग्रेस के संपतपाल से है, जो चर्चित गुलाबी गैंग की संस्थापक महिला नेता हैं और बसपा के मौजूदा विधायक चंद्रभान सिंह के लिए खतरा हैं। जबकि यहीं से बसपा से बाहर हुए पूर्व मंत्री दद्दू प्रसाद और पूर्व विधायक दिनेश मिश्रा भी भाग्य आजमा रहे हैं।

 

पटौदी खानदान की तीसरी पीढ़ी का इनके साथ होने जा रहा है बॉलीवुड डेब्यू, सैफ ने किया कन्फर्म

पटौदी खानदान की तीसरी पीढ़ी बॉलीवुड में कदम रखने के लिए तैयार है। जी हां, हम बात कर रहे है सैफ अली खान और अमृता सिंह की बेटी सारा अली खान खान की। सारा बॉलीवुड में अपना डेब्यू करने के लिए तैयार है। सैफ अली खान की बेटी सारा अली खान के बॉलीवुड में लॉन्च को लेकर पिछले काफी समय से तरह-तरह की अफवाहें आ रही थी। कुछ समय पहले खबर यह भी आई थी कि सारा ऋतिक रोशन के अपोजिट बॉलीवुड में डेब्यू करेंगी लेकिन इन खबरों को बाद में गलत करार दिया गया। 

अब सैफ अली खान अपनी बेटी को बॉलीवुड में लाने के लिए बिल्कुल तैयार है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो सैफ ने एक पोर्टल को दिए इंटरव्यू में यह खुलासा किया है कि उनकी बेटी सारा को बॉलीवुड में जिस डेब्यू का इंतजार था वह ब्रेक उन्हें करीना और सैफ के खास दोस्त करण जौहर देने जा रहे है।

उन्होंने करण की तारीफ करते हुए कहा कि करण एक प्रतिभाशाली और उत्साही फिल्ममेकर है,जो किसी न्यूकमर के लिए शानदार है। उन्होंने स्वीकार किया कि वह इस बात से काफी खुश हैं कि सारा करण के साथ अपने करियर की शुरुआत करने जा रही है। सैफ ने यह भी बताया कि करण उन्हें हमेशा सलाह देते है लेकिन आखिरी फैसला सारा खुद ही लेती है।

यदि ये सभी अफवाहें सच हुई तो सारा खान करण जौहर की अगली फिल्म ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2’ में टाइगर श्रॉफ के साथ नजर आ सकती है। इससे पहले करण की ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर’ में आलिया भट्ट, वरुण धवन और सिद्धार्थ मल्हौत्रा ने बॉलीवुड डेब्यू किया था। 

‘जॉली एलएलबी 2’ से डिलीट किया गया सीन अक्षय कुमार ने सोशल मीडिया पर किया शेयर,देखें वीडियो

2013 में आई फिल्म ‘जॉली एलएलबी’ के सीक्वल में अक्षय कुमार ने अपने अभिनय का जादू दिखाया है। फिल्म ‘जॉली एलएलबी 2’ पिछले हफ्ते 10 फरवरी को रिलीज हुई थी। इस फिल्म को दर्शकों ने काफी पसंद किया है और डोमेस्टिक बॉक्स ऑफिस पर यह फिल्म बेहतरीन कलेक्शन कर रही है। अपने अच्छे प्रदर्शन के साथ फिल्म 100 करोड़ क्लब में शामिल होने के बहुत करीब पहुंच चुकी है।

‘जॉली एलएलबी 2’ अपनी रिलीज से पहले कानूनी विवदों मे घिर गई थी। जिसमें कोर्ट के निर्णय के बाद फिल्म में से कुछ सींस को कट कर दिया गया था। उसके बाद ही फिल्म रिलीज हो पाई थी।

अक्षय कुमार ने डिलीट किए गए सींस में से एक सीन को शेयर किया है। अपने सोशल मीडिया पर इस वीडियो को शेयर करते हुए उन्होंने लिखा है कि, “फिल्म जॉली एलएलबी 2 को इतना प्यार देने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद। आप लोगों से डिलीट किया गया अपना पसंदीदा सीन यहां शेयर कर रहा हूं। आप सबको जॉली गुड मॉर्निंग।

इस पाकिस्तानी एक्ट्रेस ने उड़ाया ‘सलमान खान’ और ‘ऋतिक रोशन’ का मजाक, वीडियो हुआ वायरल

 

बॉलीवुड कितने ही अच्छे तरीके से पाकिस्तानी कलाकारों का स्वागत करें लेकिन पाकिस्तानी कलाकार बॉलीवुड कलाकरों का मजाक उड़ाने में कभी पीछे नहीं रहते है। अभिनेता फवाद खान और एक्ट्रेस माहिरा खान के बाद बॉलीवुड में डेब्यू करने जा रही पाकिस्तानी कलाकार ‘सबा कमर’ ने एक टॉक शो में बॉलीवुड अभिनेताओं के बारे में विवादित बातें बोली। 

अपनी फिल्म से ज्यादा सबा कमर हाल ही में एक टॉक शो को लेकर चर्चा में है। टॉक शो में अपने काम से ज्यादा बॉलीवुड के एक्टर्स के बारे में बयान को लेकर सबा खबरों में आ गई है। सबा को टॉक शो की हॉस्ट ने बॉलीवुड के कई एक्टर्स की तस्वीरें दिखाकर उनके ऑफर ठुकराने और उन्हें ऑफर ठुकराने का कारण बताने को कहा। 

सबा ने सलमान खान, ऋतिक रोशन, इमरान हाशमी, रणबीर कपूर और रितेश देशमुख जैसे सभी एक्टर्स के बारे में बहुत कुछ कहा। ‘ऋतिक रोशन’ के बारे में सबा ने कहा कि वह उनके टाइप के नहीं है और दो बच्चों के बाप है। ‘इमरान हाशमी’ की फोटो को देखकर उन्होंने कहा कि उन्हें मुंह का कैंसर नहीं करवाना।

इसके बाद जब शो की होस्ट ने उन्हें बॉलीवुड के दबंग ‘सलमान खान’ की फोटो दिखाई तो उन्होंने कहा कि सलमान से उन्हें बहुत डर लगता है, ये कहते हुए सबा ने कहा कि सलमान बहुत छिछोरे है,न तो उनका अपना कोई स्टाइल है ना ही उन्हें डांस करना आता है। ‘रितेश देशमुख’ को तो सबा ने बी ग्रेड फिल्म का हीरो ही करार दिया। 

बॉलीवुड एक्टर्स के खिलाफ दिए गए पाकिस्तानी एक्टर्स के कमेंट्स का ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। आपको बता दें कि सबा कमर जल्द ही इरफान खान के साथ बॉलीवुड में डेब्यू करने जा रही है। इस फिल्म की शूटिंग दिल्ली में होगी और यह एक कॉमेडी फिल्म होगी।

आज रायबरेली में चुनाव प्रचार में उतरेंगी प्रियंका गांधी, राहुल गांधी के साथ करेंगी रैली को संबोधित

उतर प्रदेश विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण के चुनाव प्रचार के आखिरी दिन शुक्रवार को प्रियंका गांधी कांग्रेस का चुनाव प्रचार करेंगी। प्रियंका गांधी कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ रायबरेली में चुनावी रैली में हिस्सा लेंगी। जहां पर वे रैली को संबोधित करेंगी। 

राहुल गांधी की रायबरेली के इंटर काँलेज ग्राउंड पर दोपहर तीन बजे सभा होनी है। इसके बाद राहुल गांधी का दूसरा कार्यक्रम रायबरेली के महाराजगंज में बाबुरिया ग्राउंड पर शाम साढ़े चार बजे है। इस बार उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव में प्रियंका गांधी की ये पहली सभा होगी। 

प्रियंका गांधी को प्रदेश में कांग्रेस के लिए चुनाव प्रचार की मांग कर्इ बार उठ चुकी हैं। इस बार एेसी चर्चाएं थीं कि प्रियंका गांधी रायबरेली और अमेठी के साथ ही उत्तर प्रदेश के कर्इ अन्य क्षेत्रों में चुनाव प्रचार करेंगी, लेकिन प्रियंका गांधी ने अन्य क्षेत्रों से अब तक दूरी बनाए रखी है। हालांकि अब वे रायबरेली में चुनाव प्रचार करती नजर आएंगी।

हम आपको बता दें कि अमेठी राहुल गांधी का संसदीय क्षेत्र है तो रायबरेली सोनिया गांधी का संसदीय क्षेत्र है। दोनों की व्यवस्थाओं के चलते प्रियंका गांधी हमेशा से ही यहां पर कांग्रेस के लिए चुनाव प्रचार करती रही हैं। 

16 -19 साल की लड़कियों को पसंद हैं इस तरह के लड़के…..

 
टीनेजर लड़कियों की पहली पसंद सिर्फ़ लुक होती है और उसकी बॉडी से उसकी संम्पन्नता का एहसास उनको आकर्सित
करता है कुछ मुख्या बातें जो मैं आपको बताने जा रही हू वो सिर्फ़ मेरी नही बल्कि 16 से 19 तक की जायदातर लड़कियों की राय होती है
 
 
सबसे महत्वपूर्ण बात यह है की हर लड़की लड़को मे कुछ अलग सी बात खोजती है पर कुछ ऐसी बातें है जो की सभी लड़कियों की चाहत होती है  16 से 17  की उम्र वाली लड़कियां जो की किशोर अवस्था  मे होती है उन्हें ऐसे लड़के पसंद आते है जो की दिखने मे क्यूट हो ,हसमुख हो और जो उन्हें खुश कर सके | 
जाहिर सी  बात है की लड़कियों का सबसे पहला ध्यान लड़के की मौजूदा  स्तिथि पे जाता है पर लड़के की पर्सनालिटी ऐसी होनी चाहिए की वो भीड़ मे सबसे आकर्षित और प्रभावशाली होने का एहसास दिलाये|
 
हालाकिं सबसे चौकाने वाली बात  यह है की किशोर अवस्था मे लड़कियों को अपने से कही ज़्यादा उम्र वाले शादी शुदा आदमी भी पसंद आने लगते है, कारण बहुत साफ है शादीशुदा संम्पन्न आदमी का आकर्षण उसकी वाकपटुता सबकुछ चेहरे पर दिखाई देता है और ऐसे में उनको पाने की लालसा मन  मे होने लगती है इस तरह की लड़कियों को लगता है की इनसे उनके सारे सपने पूरे हो जाएगे| कारण लालच नही बल्कि इस उम्र में उनके सपने कुछ हाई फाई होते है| 
 

टूटा रिकॉर्ड: 29 गानों से सजी होगी रणबीर-कैटरीना की फिल्म ‘जग्गा जासूस’

अनुराग बसु की फिल्म ‘जग्गा जासूस’ का ट्रेलर रिलीज़ हो चूका है और इसे दर्शकों का अच्छा रिस्पांस भी मिला है। फिल्म ‘जग्गा जासूस’ इस साल रिलीज होने को तैयार है। इस फिल्म में रणबीर और कैटरीना प्रमुख भूमिकाओं में नज़र आएंगे।

फिल्म की ताज़ा ख़बरों की बात करे तो इस फिल्म ने रिलीज़ से पहले ही नया रिकॉर्ड बना लिया है। जी हां, इस फिल्म में 5 या 10 गाने नहीं…. बल्कि जग्गा जासूस में कुल 29 गाने होंगे। यह एक म्यूजिकल फिल्म होगी जिसके संगीत को दमदार बनाने का काम किया है प्रीतम ने।

आपको बता दें की इससे पहले बॉलीवुड में इंद्रसभा (72 गाने) और हम आपके हैं कौन (14 गाने) के पास सबसे ज्यादा गानों का रिकॉर्ड था लेकिन जग्गा जासूस ने सलमान खान की फिल्म हम आपके है कौन का यह रिकॉर्ड तोड़ दिया हैं।

प्रीतम ने इस बारे में बताते हुए कहा की, ” पूरी फिल्म में रणबीर कपूर हकलाते हुए नज़र आएंगे, वह एक ही समय पर नहीं हकलाता जब वह फिल्म में गाना गाता हैं। इस लिहाज़ा उसे अपनी बात कहने के लिए गांव की जरुरत होती हैं।

अब गांवों के किसान परिवारों के होंगे वारे-न्यारे, सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर हर परिवार को मिलेंगे 60 लाख रूपए

सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को सरदार सरोवर बांध परियोजना की चपेट में आए 193 गांवों के किसान परिवारों के लिए बड़ा फैसला सुनाया। कोर्ट ने ऐसे 681 परिवारों को जिनकी दो एकड़ की भूमि परियोजना के लिए अधिगृहित की गई, ऐसे हर परिवार को 60 लाख रुपए मुआवजा देने का आदेश सुनाया। साथ ही पहले मुआवजा पा चुके 1358 परिवारों को 15 लाख प्रति परिवार के हिसाब से मुआवजे का आदेश भी दिया। 

इतने घोटालों में भी मनमोहन बेदाग रहे, रेनकोट पहनकर नहाना वे ही जानते हैं :मोदी

सीजेआई जेएस खेहर, जस्टिस एनवी रामन्ना और डीवाई चंद्रचूूड़ की पीठ ने स्पष्ट किया यदि इनमें से कुछ रकम पहले ही दी जा चुकी है तो उसे मुआवजे में समाहित माना जाएगा। 

पीठ ने यह फैसला मध्यप्रदेश सरकार व नर्मदा बचाओ आंदोलन के वकील संजय पारीख ने परियोजना के चलते विस्थापितों परिवारों के लिए पुनर्वास के लिए व्यवहारिक योजना प्रस्तुत करने के बाद सुनाया। पीठ ने मुआवजा मिलने के बाद किसानों को अपनी भूमि 31 जुलाई, 2017 तक खाली करनी होगी। इसे ना मानने पर प्रशासन उनकी भूमि पर जबरन कब्जा ले सकता है।

मुआवजे के साथ भूमि बदले भूमि मांगी
नर्मदा बचाओ आंदोलन ने कहा कि समझौते और शीर्ष अदालत के फैसले के अनुसार भूमि के बदले भूमि दी जानी चाहिए, न की मुआवजे के लिए, क्योंकि बांध की ऊंचाई बढ़ाई जाने के चलते विस्थापित परिवारों की भूमि डूब जाएगी।