All posts by vaishali rane

चलती कार में आग, दिल्ली से जयपुर आ रहा था परिवार, धुआं से घुटने लगा था दम

 
जयपुर नेशनल हाईवे नंबर 8 पर गुरुवार को एक चलती कार में आग लग गई। गनीमत है कि आग लगते परिवार के सभी सदस्य बाहर आ गए और उन्हें किसी प्रकार की चोट नहीं आई।
 
 
यह है पूरा मामला…
-परिवार के सदस्य दिल्ली से जयपुर आ रहे थे कि जयपुर के कोटपूतली के पास ही यह घटना घटी।
– अचानक चलती कार में आ लग गई।
– धुआं उठने लगी तो एक सदस्य ने ध्यान दिलाया।
– फिर कार रोककर सभी तेजी से बाहर निकल गए।
– देखते ही देखते कार में आग तेज हो गई और वह धूधू कर जल उठी।
– आग लगते ही धुआं से परिवार का दम घुटने लगा था, लेकिन वे जैसे-तैसे बाहर आ गए।
– कुछ देर में ही यहां लोगों का हुजूम जमा हो गया।
– लोगों ने आग बुझाने की कोशिश भी की, लेकिन काफी देर तक ज्यादा कामयाब नहीं हो पाए।
– कार जलकर राख हो गई।

अखिलेश से कोई झगड़ा नहीं, मैं कल से करूंगा सपा के लिए प्रचार: मुलायम

मुलायम सिंह ने साफ कर दिया है कि अब उनके और अखिलेश के बीच में कोई झगड़ा नहीं है, साथ ही वह कल से समाजवादी पार्टी के लिए चुनाव प्रचार भी करेंगे। 
 
 

गोलियों की तड़तड़ाहट से दहल गई दिल्ली, एन्काउंटर में इनामी बदमाश गिरफ्तार

 दिल्ली पुलिस ने बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए एक ईनामी बदमाश को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। इस दौरान पुलिस की बदमाश के साथ मुठभेड़ भी हुई। पूरा मामला दक्षिण दिल्ली इलाके का है। पुलिस गिरफ्त में आए बदमाश का नाम अकबर है, उस पर 25 हजार का इनाम था।
पुलिस सूत्रों की मानें तो सोमवार तड़के दिल्ली पुलिस और बदमाशों के बीच नेहरू प्लेस मेट्रो स्टेशन के पास मुठभेड़ हुई। जानकारी के मुताबिक, नेहरू प्लेस इलाके में आज तड़के 3 बजे के करीब जब बदमाशों और दिल्ली पुलिस के बीच गोलियां चलनी शुरू हुईं तो सनसनी फ़ैल गई।
इस एनकाउंटर में अकबर तो गिरफ्तार हो गया है, लेकिन अकबर का दोस्त राशिद भागने में कामयाब रहा। एनकाउंटर के दौरान पुलिस की बुलेट प्रूफ में गोली लगी, कोई घायल नहीं हुआ। कुछ दिन पहले इन बदमाशों ने प्रह्लादपुर में भी फायरिंग की थी।
वहां से गुजर रहे शख्स को हुआ भ्रम
बताया जा रहा है कि एन्काउंटर के पास से गुजर रहे शख्स ने गोलियों की आवाज सुनकर 100 नंबर पर फोन भी किया था। हालांकि, बाद उसे पता चला कि बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग की है। यह संयोग रहा कि बदमाशों ने जो गोलियां चलाईं उनमे से 2 गोली पुलिस कर्मियों के बुलेट प्रूफ जैकेट पर लगीं।
डीसीपी रोमिन बनिया के मुताबिक, जो बदमाश पकड़ा गया उसका नाम अकबर उर्फ़ दानिश है। रोमिन के मुताबिक अकबर उर्फ दानिश लूट, स्नेचिंग और हत्या के प्रयास के कई मामलों में वांछित था। पुल प्रह्लादपुर इलाके में पुलिस कर्मियों पर फायरिंग के मामले में इसकी गिरफ्तारी के लिए 25 हजार का इनाम भी रखा हुआ था।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार इन बदमाशों के बारे में साउथ ईस्ट डिस्ट्रिक्ट के स्पेशल स्टाफ के इन्स्पेक्टर राजेन्द्र कुमार, सब इन्स्पेक्टर योगेश, जितेंद्र, असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर श्यामवीर, सुखबीर, हेड कॉन्स्टेबल अनिल, नरेश और कांस्टेबल विनीत की टीम को सूचना मिली थी। उसी सूचना पर पुलिस टीम ने नेहरू प्लेस मेन रोड पर बेरिकेड लगा रखा था।
बदमाशों की इस हरकत पर हुआ शक
बाइक पर सवार बदमाशों ने वहां पहुंचकर जब पुलिस की बेरिकेट देखी तो वापस मुड़कर बाइक की रफ्तार तेज कर दी। इस पर सतर्क पुलिस कर्मियों ने स्विफ्ट गाड़ी से उनका पीछा किया।
इस पर घबराए बदमाशों ने पुलिस की कार में टक्कर मार दी। इसके बाद पुलिस के डर से कमल मंदिर की तरफ भागने लगे, लेकिन आगे रास्ता होने से फंस गए।
वहीं, पुलिस टीम उनके पास गई दोनों बदमाशों ने पुलिस टीम पर फायरिंग करनी शुरू कर दी। पुलिस के मुताबिक, फायरिंग के चलते 2 गोलियां पुलिसकर्मियों के बुलेट प्रूफ जैकेट पर लगीं। जवाबी करवाई में पुलिस ने 5 राउंड फायर किए और एक बदमाश को दबोच लिया, जबकि दूसरा भागने में कामयाब हो गया। दोनों बदमाशों ने मुठभेड़ के दौरान 8 राउंड फायरिंग की। वहीं जवाबी कार्रवाई में पुलिस की ओर से 5 राउंड फायर किए गए।

मिलिए नेपाल की सनी लियोनी से, 17 की उम्र में मां के साथ देती है बोल्ड सीन…

nepali_sunny_leone_148604
 
एंटरटेनमेंट डेस्क:पोर्न स्टार्स से बॉलीवुड एक्ट्रेस बनीं सनी लियोनी ने कई लोगों को इन्सपायर किया है। इन्हीं में से एक हैं नेपाली एक्ट्रेस अर्चना पनेरू, जो नेपाल की सनी लियोनी के तौर पर मशहूर हैं। सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक और ट्विटर पर आपत्तिजनक फोटोज शेयर करने के बाद अर्चना सुर्खियों में आई थीं। अर्चना के साथ उनकी मां सुनीता भी एडल्ट इंडस्ट्री से जुड़ी हुई हैं।
 
 सिर्फ 9वीं पास हैं अर्चना..

– 17 साल की अर्चना भासी, भीमदत्ता (नेपाल) की रहने वाली है। फिलहाल, वे काठमांडू में रहती हैं।
– अर्चना सिर्फ 9वीं तक पढ़ी हैं। जब वे लिटिल बुद्ध स्कूल में 10वीं की पढ़ाई कर रही थीं, तब उन्हें स्कूल से निकाल दिया गया था।
– अर्चना MNR प्रिंस एंड प्रिंसेस ब्यूटी कॉन्टेस्ट की 2nd रनर अप भी रही हैं।

– पढ़ाई छोड़ने के बाद उन्होंने मॉडलिंग की दुनिया में कदम रखा।
– अपनी हॉट तस्वीरें उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर लाइमलाइट बटोरी।
 
nepali_sunny_leone_5_1486
 
गिरफ्तार हो चुकीं मां-बेटी
– सितंबर 2015 में अर्चना ने सोशल मीडिया पर अपनी सेंसेशनल फोटोज शेयर करना शुरू किया था।
– कुछ ही दिनों में वे इंटरनेट पर फेमस हो गईं। वे सनी लियोनी को अपनी रोल मॉडल मानती हैं।
– आपत्तिजनक फोटोज शेयर करने के बाद उनके खिलाफ FIR दायर की गई थी। जिसके बाद पुलिस ने उन्हें और उनकी मां सुनीता को गिरफ्तार भी किया था।
– बता दें, 2008 में नेपाल शिफ्ट होने से पहले अर्चना की मां सुनीता ने इंडिया में सालों तक काम किया है।
– इंटरनेट पर अर्चना और उनकी मां सुनीता की कई आपत्तिजनक फोटोज भी मौजूद है।
 
एक फिल्म का लेती हैं 4.5 लाख
– अर्चना ने अपने मॉडलिंग करियर की शुरुआत म्यूजिक वीडियो से की थी। इसमें वे अपनी मां सुनीता पनेरू और भाई हरीश पनेरू के साथ दिखाई दी थी।
– जैसे ही अर्चना ने स्कैंडल्स के चलते सुर्खियां बटोरी, वैसे ही उनकी मां सुनीता ने भी इंटरनेट पर बोल्ड फोटोज शेयर करना शुरू कर दिया। कुछ महीनों बाद धर्म बदलकर वे हिंदू से क्रिश्चियन बनीं।
– उनकी पॉपुलैरिटी और खराब इमेज को देखते हुए दिसंबर, 2015 को उनके समुदाय के लोगों ने अर्चना और उनकी मां सुनीता को जात बिरादरी से बाहर कर दिया था। इसके बाद वे काठमांडू शिफ्ट हुईं।
– फरवरी 2016 में उन्होंने डेब्यू फिल्म ‘जिस्म’ की अनाउंसमेंट ट्विटर पर की, फिल्म 2017 में रिलीज हुई। रिपोर्ट्स के मुताबिक एक फिल्म के लिए अर्चना 4.5 लाख फीस लेती हैं।
– अर्चना बतौर कॉल गर्ल भी काम कर चुकी हैं। ट्वीट कर उन्होंने जानकारी दी थी कि कॉल गर्ल बन उन्होंने महज 2 दिनों में 85 हजार रुपए कमाए थे।

चीन ने बनाया दुनिया का सबसे लंबा फ्लोटिंग पाथ, पानी में 5 किमी पैदल घूम सकेंगे

 
1_1484113182इंटरनेशनल डेस्क:चीन ने लॉउडियन राज्य की होंगशुई नदी पर 5 किलोमीटर लंबा दुनिया का सबसे लंबा फ्लोटिंग पाथ बनाया है। इसे दो लाख 22 हजार से ज्यादा फाइबर के तैरते बीम पर बनाया गया है। पानी के स्तर में बदलाव आने से इसकी स्थिति भी बदलती रहती है। इस पूरे पर्यटन क्षेत्र को 50 किलोमीटर क्षेत्र में बनाया गया है। इसे साल के पहले दिन आम लोगों के लिए खोला गया।
 
पूरा एरिया घूमने में लगता है 10 घंटे का समय..

शुरुआती सात दिन में ही 60,000 पर्यटक यहां पहुंचे। यह रास्ता न्यूयॉर्क के मैनहट्‌टन एरिया से ज्यादा लंबा है। इस वॉक-वे के बीच में एंटरटेनमेंट सेंटर है। यहां पर्यटकों के मनोरंजन के इंतजाम किए गए हैं। एक व्यक्ति को पूरा क्षेत्र घूमने में करीब 10 घंटे का समय लगता है।

सिर्फ इस्लामिक कट्टरपंथ के खिलाफ है, ट्रम्प की एंटी टेरेरिज्म पॉलिसी: रिपोर्ट में दावा….

 

Republican presidential candidate Donald Trump arrives to speak during a rally at Gilley's in Dallas, Thursday, June 16, 2016. (AP Photo/LM Otero)

डोनाल्ड ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन आतंकवाद और कट्टरपंथियों के खिलाफ जो नई पॉलिसी इस्तेमाल कर रही है, उसके निशाने पर सिर्फ इस्लामिक कट्टरपंथ है। न्यूज एजेंसी ‘रायटर्स’ ने इस पॉलिसी से जुड़े पांच लोगों के हवाले से यह दावा किया है। ओबामा एडमिनिस्ट्रेशन के वक्त इस पॉलिसी को ‘काउंटरिंग वॉयलेंट एक्स्ट्रीमिज्म’ या सीवीई कहा जाता था लेकिन ट्रम्प इसे ‘काउंटरिंग इस्लामिक एक्स्ट्रीमिज्म’ कह रहे हैं।

 
बाकी हिंसा फैलाने वालों को छोड़ दिया..

– रिपोर्ट के मुताबिक, नई पॉलिसी में उन गुटों के खिलाफ कुछ नहीं कहा गया है जिनमें श्वेत शामिल हैं और जो हिंसा फैलाते हैं या आए दिन गोलीबारी करते हैं। 
– ये गुट कई घटनाओं में शामिल रहे हैं। कई बार तो इन्होंने बम से भी हमले किए हैं। 
– हालांकि, ट्रम्प के इस कदम पर हैरानी इसलिए नहीं है क्योंकि इलेक्शन कैंपेन के दौरान ही उन्होंने बराक ओबामा पर ये आरोप लगाया था कि वो इस्लामिक स्टेट के खिलाफ ‘कट्टरपंथी इस्लाम’ शब्द का इस्तेमाल भी नहीं करते। 
 
क्या है सीवीई प्रोग्राम का मकसद?
– सीवीई प्रोग्राम का मकसद उन हमलावरों को रोकना है जो अकेले के दम पर अटैक कर सकते हैं।  
– ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन गूगल और फेसबुक जैसी बड़ी इंटरनेट कंपनियों की मदद से कम्युनिटीज के लिए एजुकेशनल प्रोग्राम भी चलाना चाहती है। 
– हालांकि, एडमिनिस्ट्रेशन की मुश्किल ये है कि मुस्लिम कम्युनिटी पहले ही उन पर भरोसा करने के लिए तैयार नहीं है। 
– सात मुस्लिम देशों की लोगों की एंट्री बंद करने के बाद तो ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन की इमेज और भी निगेटिव हो गई है।  ट
– सीवीई प्रोग्राम के लिए बजट को ओबामा एडमिनिस्ट्रेशन के आखिरी दिनों में कांग्रेस की मंजूरी मिल गई थी। हालांकि फंड अब तक रिलीज नहीं किया जा सका है। 
– रिपब्लिकन पार्टी के ही कुछ सांसदों का कहना है कि अगर सिर्फ कट्टरपंथी इस्लाम शब्द का इस्तेमाल हुआ तो और भी मुस्लिम अमेरिका से दूर हो जाएंगे। 
 
सवाल उठने लगे
– ऑफ पाॅलिसी फॉर द मुस्लिम पब्लिक अफेयर्स की डायरेक्टर होदा हेवा ने सीवीई को लेकर गंभीर सवाल उठाए हैं। होदा ने पिछले हफ्ते हुई एक मीटिंग के हवाले से कहा- ये हमारे लिए चिंता की बात है। आप किसी एक मजहब के मानने वालों को शक की नजर से देख रहे हैं। 
– न्यूज एजेंसी ने सीवीई से जुड़े एक सूत्र के हवाले से कहा कि इस प्रोग्राम का नाम बदला जा सकता है। लेकिन अभी इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया है। 
– पिछले साल कांग्रेस ने सीवीई प्रोग्राम के लिए 10 मिलियन डॉलर का बजट तय किया था। इसके पहली किस्त 13 जनवरी को जारी भी कर दी गई थी।  

कुवैत ने पाकिस्तान समेत 5 मुस्लिम देशों के नागरिकों पर लगाया वीजा बैन………

 
2_1486033374
 
कुवैत ने पाकिस्तान और अफगानिस्तान के अलावा तीन और देशों से आने वाले लोगों पर बैन लगा दिया है। बाकी तीन देश हैं- सीरिया, इराक और ईरान। खास बात ये है कि जिन देशों पर बैन लगाया गया है, वो सभी मुस्लिम देश हैं। पाकिस्तान पर बैन हैरान करने वाला क्योंकि वो कुवैत को अपना अहम कारोबारी पार्टनर बताता रहा है। कुवैत रॉयल फैमिली यहां शिकार के लिए आती रही है।       
 
 टूरिज्म और बिजनेस वीजा पर भी रोक…

– स्पूतनिक न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, इन देशों के टूरिज्म और बिजनेस वीजा पर भी रोक लगा दी गई है।

– इसके बाद अब इन देशों के मूल के निवासियों के लिए वीजा जारी करने की प्रोसेस रोक दी गई है।
– बताया जा रहा है कि कुवैत सरकार इस फैसले के बारे में पिछले साल से ही विचार कर रही थी, जब कुवैत में एक शिया मस्जिद के बम ब्लास्ट में 27 लोगों की मौत हो गई थी।
 
ट्रम्प का असर तो नहीं
यूएस प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प ने शपथ लेने के बाद सात मुस्लिम देशों से आने वाले लोगों पर बैन लगा दिया था। माना जा रहा है कि कुवैत का फैसला ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन के फैसले से इन्सपायर्ड हो सकता है। हालांकि, इस पर विचार पहले से ही किया जा रहा था।
 
ट्रम्प के इन नए फैसलों से मचा है बवाल
– ट्रम्प ने ‘प्रोटेक्शन ऑफ द नेशन फ्रॉम फॉरेन टेररिस्ट एंट्री इनटू द यूनाइटेड स्टेट्स’ नाम के एग्जीक्यूटिव ऑर्डर पर साइन किए हैं।
– इसके तहत, अब वीजा देते वक्त ये ध्यान रखा जाएगा कि इससे अमेरिकियों को कोई दिक्कत न हो। अमेरिकी संविधान और कानून से छेड़छाड़ करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।
– यूएस रिफ्यूजी एडमिशन्स प्रोग्राम को 120 दिन के लिए बंद कर दिया गया है। ये तभी शुरू किया जाएगा जब ट्रम्प कैबिनेट के मेंबर्स उसकी अच्छी तरह जांच कर लेंगे।
– ऑर्डर के मुताबिक, इराक, ईरान, सीरिया, सूडान, लीबिया, सोमालिया और यमन के लोग भी 90 दिन तक अमेरिका में एंट्री नहीं ले सकेंगे। उन्हें वीजा नहीं मिलेगा

पति की नैया पार लगाने को ऐश ने लिया ‘सबसे बड़ा फैसला’

aishwarya-rai-bachchan

बच्चन परिवार की आदर्श बहू ऐश्वर्या राय बच्चन ने एक बार फिर से अपने घर और परिवार की खुशी के लिए अपने करियर पर रोक लगी दी है। फिलहाल वो परफेक्ट बहू और पत्नी बनने की दौड़ में शामिल हो गई हैं। सूत्रों के अनुसार ऐश्वर्या ने अपने फिल्मी करियर से संन्यास लेकर अपने पति के फिल्मी करियर पर ध्यान देने का फैसला किया है।

image

खबर है कि उन्होंने अपना करियर से फिलहाल के लिए ब्रेक लिया है और वो अपना सारा ध्यान अभिषेक बच्चन को अच्छे प्रोजेक्ट दिलवाने में लगा रही हैं। सूत्रों के मुताबिक ऐश्वर्या राय बच्चन को लगता है कि उनके करियर से कहीं ज्यादा जरूरी अभिषेक बच्चन को बॉलीवुड में एक अच्छा स्थान दिलाना है। वैसे खबर तो ये भी आ रही है कि ऐश्वर्या की आखिरी रिलीज फिल्म ‘ए दिल है मुश्किल’ में उनके रोल और कुछ इंटीमेट सीन्स को लेकर बच्चन परिवार बिल्कुल खुश नहीं था।

इसे लेकर परिवार का बहू ऐश के साथ कुछ न कुछ विवाद चल रहा था और शायद इसी के चलते अब ऐश ने फिल्म न करने का फैसला किया है।

abhishek-bachchan-7591

वैसे आपको बता दें कि पिछले दो साल अभिषेक बच्चन के फिल्मी करियर के लिए बिल्कुल अच्छे नहीं रहे हैं। फराह खान की ‘हैप्पी न्यू ईयर’ और साजिद-फरहाद की ‘हाउसफुल 3’ मल्टीस्टारर फिल्में थीं जिनमें उनका बहुत कम रोल था। वहीं बतौर लीड एक्टर उनकी फिल्म ‘ऑल इज वेल’ तो बुरी तरह फ्लॉप हो गई थी। वहीं ऐश्वर्या राय बच्चन ने एक लंबे समय के बाद इंडस्ट्री में वापसी की थी। उन्होंने ‘जज्बा’, ‘सरबजीत’ और ‘ए दिल है मुश्किल’ जैसी फिल्में की। हालांकि ये फिल्में भी ज्यादा कमाल नहीं दिखा पाई लेकिन अभिषेक से ज्यादा उनके अभिनय की तारीफें हुईं।

लेकिन बच्चन परिवार को बहू ऐश के बोल्ड सीन पसंद नहीं आए और कई दिनों तक ये विवाद चला। सास जया बच्चन ने तो साफ कह दिया था कि ऐश को शर्म नहीं आई। हालांकि ऐश ने हमेशा एक आदर्श बहू की तरह अपने परिवार का कहना माना है। वो मीडिया के सामने कभी अपने परिवार के खिलाफ कुछ भी बोलती नजर नहीं आती।

एक बार फिर से ऐश्वर्या राय बच्चन ने पूरी कोशिश की है कि वो परिवार और प्यार को अपने करियर के ऊपर रखें। इस बार तो उन्होंने अपना पूरा करियर ही दाव पर लगा दिया है। अब देखना ये है कि क्या वो वाकई में अभिषेक बच्चन की मदद कर पाती हैं या नहीं।

टेस्ट और वनडे के बाद टी-20 सीरीज जीतने उतरेंगे ये खिलाड़ी………..

dc-Cover-uqtq1p4kaae7ocaie6l527beq4-20160410131820.Medi

भारत ने इंग्लैंड को टेस्ट और वनडे सीरीज में करारी मात दी। 4-0 से टेस्ट सीरीज अपने नाम करने के बाद भारत ने अंग्रेजों को वनडे में भी 2-1 धूल चटाई। इसके बाद बुधवार को इंग्लैंड इस दौरे पर अंतिम बार टी-20 मैच में टीम इंडिया के खिलाफ उतरेगी। 1-1 की बराबरी पर पहुंची टी-20 सीरीज का निर्णायक मैच बेंगलुरु के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला जाएगा।भारत ने इंग्लैंड को टेस्ट और वनडे सीरीज में करारी मात दी। 4-0 से टेस्ट सीरीज अपने नाम करने के बाद भारत ने अंग्रेजों को वनडे में भी 2-1 धूल चटाई। इसके बाद बुधवार को इंग्लैंड इस दौरे पर अंतिम बार टी-20 मैच में टीम इंडिया के खिलाफ उतरेगी। 1-1 की बराबरी पर पहुंची टी-20 सीरीज का निर्णायक मैच बेंगलुरु के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला जाएगा l

विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया चाहेगी की वो आखिरी वनडे जीत कर इंग्लैंड को तीनों फॉर्मेट की सीरीज में मात दे। बेगलुरु के इस मैदान में आज सभी की निगाहें कप्तान विराट कोहली पर होंगी, जो आईपीएल में बेंगलुरु की ओर से ही खेलते हैं। यह टी-20 मैच चैंपियंस ट्रॉफी से पहले खेला जाने वाले आखिरी वनडे है। आइए जानते किस खिलाड़ी को मिलेगी अंतिग एकादश में जगह ,

संभवत: इस मैदान पर एक बार फिर लोकेश राहुल और कप्तान विराट कोहली को पारी की शुरुआत करते हुए देखा जा सकता है। दोनों की जोड़ी आईपीएल 2016 में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के लिए पारी का आगाज करते हुए काफी रन बनाए थे।

टीम इंडिया के लिए नंबर 3, 4 और 5 पांच पर दिग्गजों की त्रिमूर्ति नजर आ सकती है। सुरेश रैना, युवराज सिंह और महेंद्र सिंह धोनी की तिकड़ी नजर आएगी। तीनों के यह बहुत जरूरी है को वो टीम के लिए मैच जिताउ पारी खेलें और टीम को बड़े स्कोर की ओर लेकर जाए। इस सीरीज में बीच के ओवरों में रन बेहद धीमी रफ्तार से बने हैं।

india_1485711688

ऑलराउंडर/ फिनीशर
हार्दिक पांड्या के साथ फिनीशर के रोल में ऋषभ पंत को मौका दिया जा सकता है। पंत के लिए यह बहुत बड़ा मौका साबित हो सकता है। हांलिक कप्तान कोहली मनीष पांडे पर भी एक बार फिर भरोसा जता सकते हैं। इसके अलावा पांड्या के साथ युवराज और सुरेश रैना ऑलराउंडर की भूमिका निभाते नजर आएंगे।

स्पिनर
यजुवेंद्र चहल और अमित मिश्रा दोनों के लेग स्पिनर हैं। ऐसे में कप्तान के सामने सवाल होगा कि वो मौका किसे दें। चिन्नास्वामी स्टेडियम के अनुभव को देखते हुए चहल को मिश्रा पर तरजीह दी जा सकती है। इसके अलावा रैना ऑफ स्पिन और युवराज की लेफ्ट आर्म स्पिन टीम के पास है ही।

तेज गेंदबाज
इस मोर्चे पर कप्तान कोहली शायद ही कोई बदलाव करें। जसप्रीत बुमराह और आशीष नेहरा की जोड़ी में फेरबदल की कोई गुंजाइश ही नहीं। इसका मतलब यह हुआ कि भुवनेश्वर कुमार को एक बार फिर बाहर बैठना पड़ सकता है। नेहरा और बुमराह की जोड़ी ने दूसरा टी-20 टीम के नाम किया था।

india_1485711688ये ग्यारह खिलाड़ी बनाएंगे विराट को अजेय कप्तान 

इंग्लैंड के खिलाफ नागपुर में खेले गए तीन मैचों की सीरीज के दूसरे मैच में जिस रोमांचक अंदाज में टीम इंडिया ने 5 रन से जीत दर्ज की उससे भारतीय टीम के हौसले बुलंद हैं। इंग्लैंड को सीरीज में मात देने के लिए विराट की सेना में ये 11 खिलाड़ी खेलते नजर आएंगे।  यदि विराट की सेना तीसरे टी-20 में जीत दर्ज कर लेती है तो वह टीम इंडिया की ओपनिंग बल्लेबाजी का दारोमदार एक बार फिर विराट कोहली और केएल राहुल पर होगा। दोनों के लिए चिन्नास्वामी स्टेडियम जाना पहचाना है। दोनों ही खिलाड़ी रॉयल चैलेंजर्स के लिए खेलते हैं और पारी की शुरूआत कर चुके हैं। पिछले मैच में 71 रन की पारी खेलकर राहुल ने फॉर्म में वापसी के संकेत दे दिए हैं। टीम की जीत का दारोमदार इन दोनों पर होगा क्योंकि चिन्नास्वामी की बाउंड्री काफी छोटी है और इस मैदान पर बड़े स्कोर चेज किए जा चुके हैं। 

मोदी सरकार ने किया कालेधन पर फिर प्रहार………

Currency_1728545f

 
 

  देश में काले धन पर रोक लगाने के लिए सरकार ने नोटबंदी की घोषणा की थी पर उसमें भी कालाधन रखने वाले लोगों ने अपने पैसे बैंकों में जमा करवा कर बचा लिए। उसी कालेधन पर सिकंजा कसने के लिए सरकार ने एक अभियान शुरु किया है। इस अभियान के तहत आयकर विभाग ने एसे लोगों की पहचान की है, जिन्होंने नोटबंदी के समय अपने खाते में 5 लाख या इससे ज्यादा रुपए अपने खाते में जमा किए थे।

मोदी सरकार ने इसके लिए एक सॉफ्टवेयर लॉंच किया है। ऑपरेशन क्लीन मनी/स्वच्छ धन अभियान एक प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर है, जो उन लोगों से जवाब मांगने के लिए इस्तेमाल किया जाएगा जिन्होंने नोटबंदी के बाद संदिग्ध रकम जमा की है। उनके जवाब से संतुष्ट न होने पर उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

आपको बता दें कि आयकर विभाग ने 18 लाख ऐसे लोगों की पहचान की है जिन्होंने नोटबंदी के बाद अपने अकाउंट में पांच लाख रुपये से ज्यादा की रकम जमा की है। पहली नजर में इनके ट्रांजैक्शन को संदिग्ध माना गया है। इन्हें ईमेल और एसएमएस भेजकर उनसे इस जमा के बारे में जवाब मांगा जाएगा। इन लोगों को मैसेज मिलने के 10 दिन के भीतर जवाब देना होगा वर्ना नोटिस भेजकर कार्रवाई शुरू कर दी जाएगी।

इस तरह हुए पैसे जमा

एक करोड़ से ज्यादा ऐसे अकाउंट हैं जिनमें 2 लाख से ज्यादा की रकम जमा हुई। इनमें से 70 लाख लोगों के पैन नंबर दिए गए। सरकारी अनुमानों के मुताबिक नोटबंदी के बाद के 50 दिनों में करीब 3-4 लाख करोड़ रुपये की काली कमाई बैंकों में जमा हुई है।

गौरतलब है कि देश में मोदी सरकार ने 8 नवंबर को 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों पर बैन लगाने की घोषणा की थी। उसके बाद से ही लोग पैसों की कमी से परेशान थे पर वे खुश थे क्योंकि इससे कालाधन रखने वाले लोगों के बुरे दिन भी आ गए थे। बताया जा रहा है कि सरकार ने ये कदम कालेधन पर रोक लगाने तथा बाजार में चल रहे नकली नोटों की रोकथाम करने के लिए उठाया था। में काले धन पर रोक लगाने के लिए सरकार ने नोटबंदी की घोषणा की थी पर उसमें भी कालाधन रखने वाले लोगों ने अपने पैसे बैंकों में जमा करवा कर बचा लिए। उसी कालेधन पर सिकंजा कसने के लिए सरकार ने एक अभियान शुरु किया है। इस अभियान के तहत आयकर विभाग ने एसे लोगों की पहचान की है, जिन्होंने नोटबंदी के समय अपने खाते में 5 लाख या इससे ज्यादा रुपए अपने खाते में जमा किए थे।

मोदी सरकार ने इसके लिए एक सॉफ्टवेयर लॉंच किया है। ऑपरेशन क्लीन मनी/स्वच्छ धन अभियान एक प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर है, जो उन लोगों से जवाब मांगने के लिए इस्तेमाल किया जाएगा जिन्होंने नोटबंदी के बाद संदिग्ध रकम जमा की है। उनके जवाब से संतुष्ट न होने पर उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

आपको बता दें कि आयकर विभाग ने 18 लाख ऐसे लोगों की पहचान की है जिन्होंने नोटबंदी के बाद अपने अकाउंट में पांच लाख रुपये से ज्यादा की रकम जमा की है। पहली नजर में इनके ट्रांजैक्शन को संदिग्ध माना गया है। इन्हें ईमेल और एसएमएस भेजकर उनसे इस जमा के बारे में जवाब मांगा जाएगा। इन लोगों को मैसेज मिलने के 10 दिन के भीतर जवाब देना होगा वर्ना नोटिस भेजकर कार्रवाई शुरू कर दी जाएगी।

 

 

इस बार के बजट में जानें क्या है खास बात …..

03

 

इंडियन युनियन मुस्लिम लीग के वरिष्ठ नेता और संसद सदस्य ई अहमद का दिल का दौरा पड़ने से निधन के बाद आज अगर बजट पेश होता है तो वित्त मंत्री अरुण जेटली चौथी बार देश का आम बजट पेश करेंगे। ऐसे में इस बार आम बजट से आईटी से लेकर सर्विस टैक्स तक कई बड़े ऐलानों की उम्मीद है। इसके साथ ही उम्मीद जताई जा रही है कि सरकार किसानों और गरीबों के लिए कुछ बड़े ऐलान कर सकती है। 

ऐसे में इस बार के बजट में कई अहम बातें है जो साल 2017 के बजट को खास बनाती है। हम आपको बता रहे हैं कि क्या खास बात है इस साल के आम बजट में…

GST  लागू होने से पहले का बजट पेश..

जहां पूरे देश में एक टैक्स व्यवस्था लागू होने की तारीख 1 जुलाई 2017 है, तो इस साल का बजट उससे पहले टैक्स ढांचे को तय करने में एक अलग भूमिका अदा कर सकता है। 

नोटबंदी के बाद पहला आम बजट..

पीएम मोदी ने 2016 में 8 नंबर को नोटबंदी का फैसला किया था, जिसका पूरे देश में विरोध हुआ था, कई विशेषज्ञों सहित पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने भी इस पर अपना ऐतराज जताया था। तो वहीं आज नोटबंदी के बाद सरकार अपना पहला बजट पेश करेगी। जिससे नोटबंदी का अर्थव्यवस्था पर जो असर पड़ा है, उसके सटीक आंकड़ो का पता लगेगा। 

पहली बार 1 फरवरी को पेश हो रहा है आम बजट… 

देश के इतिहास में पहली बार आम बजट 1 फरवरी को पेश होगा। जिससे बजट के प्रवधानों को लागू करने उचित समय मिल सके। तो वहीं 4 फरवरी से शुरु होने जा रहे 5 राज्यों के आम को लेकर विपक्षी पार्टियों ने इसका कड़ा विरोध किया था। जिसे लेकर लड़ाई चुनाव आयोग और सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गई थी। 

एक साथ पेश होगा आम बजट और रेल बजट…

आपको बता दें कि अभी आम बजट और रेल बजट अलग – अलग पेश किए जाते थे। लेकिन ऐसा पहली बार हो रहा है कि दोनों बजट एक साथ पेश किया जाएगा। तो वहीं रेल बजट और इसके आर्थिक सर्वे केंद्रीय बजट संसद में पेश किया जाता था। 

नकद ट्रांजेक्शन पर टैक्स का ऐलान हो सकता है…

देश में कैश ट्रांजेक्शन को सीमित करने के लिए सरकार पहली बार कैश के लेनदेन पर टैक्स लगाने की तैयारी में है। जानकारी के मुताबिक सरकार 50 हजार रुपए से अधिक के लेनदेन पर टैक्स लगा सकती है, जिससे कि देश में कैश से लेनदेन में कमी लाया जा सके। 

इसके साथ ही सरकार इस बजट में नोटबंदी के बाद देश की इकनॉमी को बढ़ाने के लिए डायरेक्ट टैक्स में कुछ बदलाव कर सकती है। साथ ही कहा जा रहा है कि सरकार इनकम टैक्स की लिमिट को बढ़ाकर 3 लाख रुपए कर सकती है। 

इंडियन युनियन मुस्लिम लीग के वरिष्ठ नेता और संसद सदस्य ई अहमद का दिल का दौरा पड़ने से निधन के बाद आज अगर बजट पेश होता है तो वित्त मंत्री अरुण जेटली चौथी बार देश का आम बजट पेश करेंगे। ऐसे में इस बार आम बजट से आईटी से लेकर सर्विस टैक्स तक कई बड़े ऐलानों की उम्मीद है। इसके साथ ही उम्मीद जताई जा रही है कि सरकार किसानों और गरीबों के लिए कुछ बड़े ऐलान कर सकती है। 

ऐसे में इस बार के बजट में कई अहम बातें है जो साल 2017 के बजट को खास बनाती है। हम आपको बता रहे हैं कि क्या खास बात है इस साल के आम बजट में…

GST  लागू होने से पहले का बजट पेश..

जहां पूरे देश में एक टैक्स व्यवस्था लागू होने की तारीख 1 जुलाई 2017 है, तो इस साल का बजट उससे पहले टैक्स ढांचे को तय करने में एक अलग भूमिका अदा कर सकता है। 

नोटबंदी के बाद पहला आम बजट..

पीएम मोदी ने 2016 में 8 नंबर को नोटबंदी का फैसला किया था, जिसका पूरे देश में विरोध हुआ था, कई विशेषज्ञों सहित पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने भी इस पर अपना ऐतराज जताया था। तो वहीं आज नोटबंदी के बाद सरकार अपना पहला बजट पेश करेगी। जिससे नोटबंदी का अर्थव्यवस्था पर जो असर पड़ा है, उसके सटीक आंकड़ो का पता लगेगा। 

पहली बार 1 फरवरी को पेश हो रहा है आम बजट… 

देश के इतिहास में पहली बार आम बजट 1 फरवरी को पेश होगा। जिससे बजट के प्रवधानों को लागू करने उचित समय मिल सके। तो वहीं 4 फरवरी से शुरु होने जा रहे 5 राज्यों के आम को लेकर विपक्षी पार्टियों ने इसका कड़ा विरोध किया था। जिसे लेकर लड़ाई चुनाव आयोग और सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गई थी। 

एक साथ पेश होगा आम बजट और रेल बजट…

आपको बता दें कि अभी आम बजट और रेल बजट अलग – अलग पेश किए जाते थे। लेकिन ऐसा पहली बार हो रहा है कि दोनों बजट एक साथ पेश किया जाएगा। तो वहीं रेल बजट और इसके आर्थिक सर्वे केंद्रीय बजट संसद में पेश किया जाता था। 

नकद ट्रांजेक्शन पर टैक्स का ऐलान हो सकता है…

देश में कैश ट्रांजेक्शन को सीमित करने के लिए सरकार पहली बार कैश के लेनदेन पर टैक्स लगाने की तैयारी में है। जानकारी के मुताबिक सरकार 50 हजार रुपए से अधिक के लेनदेन पर टैक्स लगा सकती है, जिससे कि देश में कैश से लेनदेन में कमी लाया जा सके। 

इसके साथ ही सरकार इस बजट में नोटबंदी के बाद देश की इकनॉमी को बढ़ाने के लिए डायरेक्ट टैक्स में कुछ बदलाव कर सकती है। साथ ही कहा जा रहा है कि सरकार इनकम टैक्स की लिमिट को बढ़ाकर 3 लाख रुपए कर सकती है। 

साल के शुरुआत में ही तलाक ने दी बॉलीवुड में दस्तक…..

l_Vishal-1485843410

नए साल यानी 2017 की शुरुआत में ही अभिनेत्री नंदिता दास ने अपनी शादीशुदा जिंदगी के खत्म होने की खबर सुना कर सबको चौंका दिया। अब खबर है कि गायक और संगीत निर्देशक विशाल दादलानी पत्नी प्रियाली से तलाक लेने वाले हैं। दोनों पिछले काफी समय से अलग रह रहे थे।

विशाल दादलानी ने एक ऑफिशल स्टेटमेंट जारी कर कहा है कि कई सालों तक अलग रहने के बाद अब तलाक की अर्जी देने जा रहे हैं। विशाल ने यह भी बताया है कि तलाक लेने का उनका यह फैसला निजी और व्यक्तिगत मामला है इसलिए इस बारे में वह सिर्फ इतना ही बताना चाहते हैं। विशाल ने अपने स्टेटमेंट में आगे लिखा है कि वह अपनी पत्नी से अलग रहने के बाद अब वह दोनों पहले से ज्यादा अच्छे दोस्त बन गए हैं।

विशाल ने यह जानकारी भी शेयर की है कि दोनों के परिवार पहले की तरह ही साथ हैं। इस तलाक से दोनों के परिवार में किसी तरह का मतभेद नहीं है । उन्होंने कहा कि उनकी निजी जिंदगी हमेशा गोपनीय रही है, ऐसे में उन्हें उम्मीद है कि आगे भी उनकी प्रिवेसी का सम्मान किया जाएगा। विशाल और प्रियाली के तलाक लेने का फैसला फिल्म इंडस्ट्री के लिए काफी चौंकाने वाला है। अब विशाल और प्रियाली का नाम भी बॉलीवुड के उन सितारों में जुड़ गया है जिन्होंने पिछले साल तलाक लेने का फैसला किया है।

विशाल ने ओम शांति ओम से लेकर सुल्तान जैसी तमाम हिट फिल्मों में संगीत दिया है। हाल ही में उन्होंने फिल्म काबिल में मोन आरमोर गाना गाया है जो इन दिनों सबको खूब पसंद आ रहा है।

पिछले साल 2016 की शुरुआत में बॉलीवुड के कई सितारों के बीच अलगाव हुआ था, कई लोगों की दोस्ती में दरार आई और कुछ रिश्ते तो इतने उलझ गए थे कि उन्हें अब तक अदालतों के चक्कर लगाकर सुलझाने की कोशिश की जा रही है। पिछले साल फरहान अख्तर-अधुना का तलाक हुआ उसके बाद अरबाज खान-मलाइका अरोड़ा और पुलकित सम्राट-श्वेता रोहिरा ने भी तलाक लेने का फैसला किया।