All posts by धमाका नेटवर्क

दलाई लामा के दौरे पर भारत का चीन को दो-टूक, कहा- अंदरुनी मामलों में दखल ना दे

केद्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजीजू ने तिब्बती आध्यात्मिक धर्मगुरु दलाई लामा के भारत दौरे को राजानीतिक दौरा कहे जाने पर आपत्ति जताई है| भारत ने दलाई लामा की अरुणाचल यात्रा पर चीन की आपत्ति पर कहा कि ‘कृत्रिम विवाद’खड़ा करने की कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि उनका दौरा राजनीतिक नहीं है|

नई दिल्ली: केद्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजीजू ने तिब्बती आध्यात्मिक धर्मगुरु दलाई लामा के भारत दौरे को राजानीतिक दौरा कहे जाने पर आपत्ति जताई है| भारत ने दलाई लामा की अरुणाचल यात्रा पर चीन की आपत्ति पर कहा कि ‘कृत्रिम विवाद’खड़ा करने की कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि उनका दौरा राजनीतिक नहीं है.

दलाई लामा की अरुणाचल यात्रा पूरी तरह धार्मिक

गृह राज्यमंत्री किरण रिजीजू ने कहा कि दलाई लामा की अरुणाचल यात्रा पूरी तरह धार्मिक है और इसका कोई राजनीतिक अर्थ नहीं निकाला जाना चाहिए. भारत ने चीन से कहा कि वह हमारे अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप नहीं करे क्योंकि अरुणाचल प्रदेश हमारा अभिन्न हिस्सा है. रिजीजू ने कहा कि भारत चाइना पॉलिसी का सम्मान करता है. गौर हो कि दलाई लामा 18 अप्रैल तक अरुणाचल प्रदेश के दौरे पर हैं. चीन ने दलाई लामा का भारत यात्रा पर आपत्ति जताई थी.

तनाव के बीच दलाई लामा का दौरा

तिब्बती आध्यात्मिक गुरू दलाई लामा का यह दौरा उस वक्त हो रहा है जब कई मुद्दों को लेकर भारत-चीन संबंधों में तनाव चल रहा है .
चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपेक) के पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से होकर गुजरने, परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह में भारत की सदस्यता के प्रयास को अवरूद्ध करने तथा जैश ए मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिबंधित कराने के कदम को बीजिंग द्वारा रोकने को लेकर भारत-चीन संबंधों में तनाव आया है.

चीन ने जताई थी आपत्ति

चीन ने यह भी कहा था कि दलाई लामा 1959 में ‘विफल सशस्त्र विद्रोह’ के बाद भागकर भारत गए और वह ‘अलगाववादी गतिविधि’ में शामिल रहे हैं. दलाई लामा के एक बयान के बारे में पूछे गए सवाल के लिखित जवाब में चीनी विदेश मंत्रालय ने से कहा, ‘उनके बयान चीन विरोधी अलगाववादी उद्देश्य की पूर्ति करते हैं और वे तथ्यों से परे हैं.’

चीन अरूणाचल पर दावा करता है

चीन ने कहा था कि भारत की ओर से तिब्बत के निर्वासित नेता को अरूणाचल यात्रा की अनुमति देने से द्विपक्षीय संबंधों को ‘गंभीर नुकसान’ होगा . चीन ने नई दिल्ली से ‘चुनने’ के लिए कहा था . एक महीने में दूसरी बार भारत को दी गई चेतावनी में चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा था कि दलाई लामा को अरूणाचल यात्रा के लिए अनुमति देने के भारत के फैसले से वह गंभीर रूप से चिंतित है. गौरतलब है कि चीन अरूणाचल को दक्षिणी तिब्बत का हिस्सा बताकर उस पर दावा जताता रहा है .

5 करोड़ की कार में सीएम आवास की तरफ जा रहे थे प्रतीक, पुलिस ने…

मुलायम सिंह यादव के बेटे प्रतीक यादव अपनी 5 करोड़ की लैम्बॉर्गिनी कार को लेकर चुनाव में खूब सुखि‍र्यों में रहे। वे अक्सर लखनऊ स्थि‍त सीएम आवास के सामने से अपनी महंगी कार में चलते नजर आए।

लेकिन इस बार उन्हें इस सड़क पर भी एंट्री नहीं मिली। दरअसल सोमवार को प्रतीक ने जैसे ही 5 KD की तरफ कार मोड़ी, यहां मौजूद सुरक्षा अधिकारी ने उन्हें वापस लौटने का निर्देश दे दिया।

जिसके बाद उन्हें यहां से लौटना पड़ा।  सोमवार को लखनऊ स्थित सीएम आवास पर पूजा पाठ का काम हो रहा था। योगी आदित्यनाथ के सीएम आवास में शि‍फ्ट होने से पहले इसका शुद्धिकरण कराया। 
शुद्धिकरण के बाद योगी आदित्यनाथ वीवीआईपी गेस्ट हाउस से सीएम आवास के लिए निकले थे। जिसकी वजह से यहां की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई थी।

साथ ही इस सड़क पर आम लोगों के लिए एंट्री बैन की गई थी।  इसी बीच प्रतीक यादव अपनी 5 करोड़ की कार में यहां पहुंच गए। जब सुरक्षा अधिकारियों ने देखा कि वे 5 केडी की ओर कार को मोड़ रहे हैं तो उन्हें यहां से वापस जाने का निर्देश दिया। 

प्रतीक ने सुरक्षा अधि‍कारी के निर्देश का पालन करते हुए कार को मोड़ लिया और वापस लौट गए। प्रतीक यादव की यह कार सबसे पहले सुर्ख‍ियों में तब छाई थी, जब वे इसे लेकर सीएम आवास के सामने से निकले थे। इस विदेशी कार की कीमत करीब 5 करोड़ रुपए है।
मीडिया में खबर आने के बाद विपक्षी दलों ने इसे ‘ये है असल समाजवाद’ का स्‍लोगन देकर हाईलाइट किया था।  इसमें यह भी बताया जा रहा था कि मुलायम ने राजनीति से अपने परिवार को फायदा पहुंचाया है।

यह है सेक्स करने का सही एंगल, साथी को होगा हर बार ऑर्गेज्म

आप अब तक एक राइट एंगल मापने के लिए प्रोटेक्टर का इस्तेमाल कागजों पर करते होंगे। लेकिन अगर आपको एंगल मापने का सही ज्ञान होगा तो आप अपने साथी को हर बार ऑर्गेज्म की प्राप्ति करवा सकते हैं। आपको यह जान कर थोड़ी हैरानी होगी कि हालिया शोध में सेक्स करने का सही एंगल निकाल लिया गया है जिससे आप अपने साथी को हर बार चरमसुख दे सकते हैं।

ब्रिटेन की सबसे बड़ी ऑनलाइन सेक्स टॉय विक्रेता लवहनी के एक सर्वे में एक बात सामने आई कि अगर आप अपने साथी के जी स्पॉट पर 27 डिग्री पर हिट करते हैं तो उनके ऑर्गेज्म की प्राप्ति के चांस बढ़ जाते हैं। 

लवहनी के सेक्स एक्सपर्ट जेस वाइल्ड ने कहा- मर्द इंटरकोर्स के दौरान अगर वो अपने साथी को जी-स्पॉट पर टच करते हैं वो भी 27 डिग्री का एंगल लेकर तो दोनों को सेक्स सुख की जो प्राप्ति होगी वो असीम होगी। इस एंगल को पाने के लिए वो तकिये का सहारा ले सकते हैं।

J&K के शोपियां में सेना के काफिले पर आतंकी हमला; तीन जवान शहीद, एक महिला की मौत

कश्मीर के शोपियां जिले में आज आतंकियों ने सेना के गश्ती दल पर घात लगाकर हमला कर दिया जिसमें तीन जवानों और एक महिला की मौत हो गई। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि आतंकियों ने सुरक्षा बलों के गश्ती दल पर तब हमला कि जब वह शोपियां के चित्तरगाम इलाके में तलाशी और घेराबंदी के अभियान पर जा रहा था। उन्होंने बताया कि इस हमले में सेना के तीन जवान शहीद हो गए जबकि जाना बेगम नामक महिला की गोली लगने से मौत हो गई। हमले में पांच अन्य जवान घायल हो गए।

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर के शोपियां में गुरुवार सुबह सुरक्षाबलों के काफिले पर आतंकवादियों ने हमला कर दिया। कश्मीर के शोपियां जिले में आज आतंकियों ने सेना के गश्ती दल पर घात लगाकर हमला कर दिया जिसमें तीन जवानों और एक महिला की मौत हो गई। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि आतंकियों ने सुरक्षा बलों के गश्ती दल पर तब हमला कि जब वह शोपियां के चित्तरगाम इलाके में तलाशी और घेराबंदी के अभियान पर जा रहा था।

उन्होंने बताया कि इस हमले में सेना के तीन जवान शहीद हो गए जबकि जाना बेगम नामक महिला की गोली लगने से मौत हो गई। हमले में पांच अन्य जवान घायल हो गए। सेना का काफिला आतंकवादियों के खिलाफ एक ऑपरेशन करके लौट रहा था कि तभी रात 2.30 बजे के आसपास भारी हथियारों से लैस आतंकवादियों ने फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद सेना ने इस इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया लेकिन आतंकवादी अंधेरे का फायदा उठाकर भाग गए। घायल जवानों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज चल रहा है।

(एजेंसी)

महाराष्‍ट्र निकाय चुनाव रिजल्‍ट LIVE: BMC में किसी को बहुमत नहीं, शिवसेना सबसे आगे; बाकी निगमों में बीजेपी का बेहतर प्रदर्शन

महाराष्ट्र में गुरुवार को बृहन्मुंबई नगर निगम सहित 10 नगर निकायों, 25 जिला परिषदों और 283 पंचायत समितियों के चुनावों के लिए मतगणना जारी है, जिसके नतीजों का सीधा असर भाजपा और शिवसेना के आगामी रिश्तों पर पड़ने की उम्मीद है। दोनों पार्टियां (बीजेपी और शिवसेना) सत्ता में एकसाथ होने के बावजूद अलग-अलग चुनाव लड़ रही हैं। बीएमसी और अन्‍य निकाय चुनाव के लिए वोटों की गिनती आज सुबह शुरू हुई।

मुंबई : महाराष्ट्र में गुरुवार को बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) सहित 10 नगर निकायों, 25 जिला परिषदों और 283 पंचायत समितियों के चुनावों के लिए मतगणना जारी है। अब तक के नतीजों के अनुसार, सात निकायों में बीजेपी बेहतर प्रदर्शन के साथ सबसे आगे है। शिवसेना ने दो निकायों में बढ़त हासिल की है। एनसीपी एक निकाय में आगे है। इन नतीजों का सीधा असर भाजपा और शिवसेना के आगामी रिश्तों पर पड़ने की उम्मीद है। दोनों पार्टियां (बीजेपी और शिवसेना) सत्ता में एकसाथ होने के बावजूद अलग-अलग चुनाव लड़ रही हैं। बता दें कि बता दें कि बीएमसी सहित महाराष्ट्र के 10 नगर निगमों, 25 जिला परिषदों एवं 283 जिला पंचायतों पर हुई वोटिंग के लिए आज सुबह 10 बजे मतगणना शुरू हुई।

लाइव अपडेट:-

-बीएमसी चुनाव में अब तक 227 में 225 सीटों के नतीजें घोषित हो चुके है। शिवसेना 84 सीटें जीतकर सबसे आगे है। बीजेपी 80 सीटों की जीत के साथ दूसरे नंबर पर काबिज है। कांग्रेस 31, महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना 7, एनसीपी 9, एमआईएम 1, अन्य 5 और एबीएस ने एक सीट पर जीत हासिल की है।

-बीएमसी चुनाव में शिवसेना आगे। किसी भी दल को बहुमत नहीं।

-बीएमसी की 227 सीटों पर हो रही मतगणना के अब तक प्राप्‍त नतीजों (जीत और बढ़त) के मुताबिक, शिवसेना 92 सीटों के साथ सबसे आगे है जबकि भाजपा 77 सीटों पर आगे हैं। वहीं, कांग्रेस 29 सीटों पर आगे है। एनसीपी 8, एमएनएस ने 4 और अन्‍य ने 14 सीटें जीती हैं।

-मुंबई और ठाणे निकाय में शिवसेना सबसे आगे।

-पिंपड़ी चिंचवाड़ में एनसीपी सबसे आगे।

-बीएमसी चुनावों में पार्टी के फीके प्रदर्शन के बाद मुंबई प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम ने इस्तीफे की पेशकश की।

-मुंबई बीजेपी अध्‍यक्ष आशीष शेलार के भाई विनोद चुनाव हारे।

-बीजेपी सांसद किरीट सोमैया के बेटे नील ने वार्ड नंबर 108 से जीत दर्ज की।

-नासिक नगर निगम में भाजपा आगे और शिवसेना दूसरे स्‍थान पर।

-ठाणे निकाय चुनाव में शिवसेना पहले स्‍थान पर और बीजेपी दूसरे स्‍थान पर।

-7 नगर निकायों में बीजेपी का अच्‍छा प्रदर्शन। नासिक, सोलापुर, नागपुर, अमरावती, पुणे में बीजेपी को भारी बढ़त।

-दो निकायों (मुंबई और ठाणे) में शिवसेना का बेहतर प्रदर्शन।

-महाराष्‍ट्र महानगरपालिक चुनाव के अब तक प्राप्‍त नतीजों में कुल मिलाकर बीजेपी पहले स्‍थान पर।

-ताजा जानकारी के अनुसार, कुल दस में से 8 निकायों के नतीजों में बीजेपी पहले स्‍थान पर और शिवसेना दूसरे नंबर पर चल रही है। नासिक, सोलापुर, नागपुर, अमरावती, पुणे में बीजेपी ने बढ़त बना रखी है।

-मुंबई में शिवसेना नंबर एक और बीजेपी दूसरे स्‍थान पर चल रही है।

-बीएमसी की 227 सीटों के लिए वोटों की गिनती जारी।

-ठाणे में शिवसेना नंबर एक, बीजेपी दूसरे नंबर पर।

-पुणे में बीजेपी पहले स्‍थान पर और शिवसेना दूसरे स्‍थान पर।

-उल्‍हासनगर और दादर में शिवसेना आगे1

-सोलापुर में बीजेपी आगे।

-पिंपरी चिंचवाड़ में बीजेपी पहले, शिवसेना दूसरे स्‍थान पर।

-अमरावती से बीजेपी की रीता पंडोलो के निर्विरोध जीतने की खबर है।

-निकाय चुनावों के लिए वोटों की गिनती शुरू। मुंबई के अलावा ठाणे, उल्हासनगर, नासिक, पुणे, पिम्परी-चिंचवाड, शोलापुर, अकोला, अमरावती और नागपुर के नगर निगमों के लिए भी मतों की गिनती शुरू।

— ANI (@ANI_news) February 23, 2017
बीजेपी, शिवसेना के अलावा ‘लघु आम चुनावों’ के नाम से पहचाने जाने वाले इन चुनावों में कांग्रेस और राकांपा भी मैदान में हैं। सबकी नजर संसाधन संपन्न बृहन्मुंबई नगर निगम पर है जिसकी 227 सीटों पर लड़े जा रहे इन चुनावों का मुख्य मुकाबला सत्तारूढ़ भाजपा और शिवसेना के बीच है। आज सुबह 10 बजे शुरू हुई मतगणना में 10 नगर निगमों, 25 जिला परिषदों और 283 पंचायत समितियों की 5,777 सीटों पर किस्मत आजमा रहे 21,620 उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर लगी है। इन सीटों पर मतदान दो चरणों में हुए थे। मंगलवार को 10 नगर निगम सीटों पर मतदान करीब 56 प्रतिशत और बीएमसी में करीब 55 प्रतिशत मतदान हुआ था। इसके अलावा जिला परिषदों और पंचायत समितियों में 69 प्रतिशत मतदाताओं ने मत डाले थे।

विपक्षी पार्टी कांग्रेस, राकांपा और मनसे एवं एआईएमआईएम जैसे अन्य दलों को पीछे छोड़ते हुए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में उनकी पार्टियों ने जमकर प्रचार किया। मुंबई के अलावा ठाणे, उल्हासनगर, नासिक, पुणे, पिंपरी-चिंचवाड़, सोलापुर, अकोला, अमरावती और नागपुर में भी नगर निगम चुनाव हुए। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में 2,275 उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर लगी है।

नए लुक में मारुति सूजुकी की जिप्सी…5 लाख कीमत…लग्जरी कार भी हो जाएंगी फेल !

मारुति सुजूकी ऑटो इंडस्ट्री में बवाल मचताती जा रही है। अब जिप्सी को ऐसा लुक दिया गया है कि इसके सामने लग्जरी कार भी फेल हो जाएंगी।

मारुति सुजूकी लगातार अपनी कारों के मॉडल में बदलाव करते जा रही है। दरअसल मारुति का मानना है कि वक्त के हिसाब से कारों के लुक में भी बदलाव होना चाहिए। खासकर कंपनी का टारगेट अब यंग जनरेशन भी है। इस वक्त देखा जा रहा है कि दुनियाभर की तमाम कार मेकर कंपनियां एसयूवी ला रही हैं। हालांकि मारुति ने भी इग्निस के नाम से अपनी एसयूवी लॉन्च की लेकिन अब वो कार की दुनिया में नया हाहाकार मचाने की तैयारी कर रही है। आपको याद होगा मारुति की जिप्सी एक वक्त में पूरे भारत में बेहद ही लोकप्रिय थी। अब ये जिप्सी नए लेवर में नजर आने वाली है। इसके नए लुक के आगे लग्जरी कार भी फेल हो जाएंगी। जी हां कुछ इसी तरह से इस कार को डिजायन किया जा रहा है।

बताया जा रहा कि कंपनी इस वक्त एसयूवी पर ही फोकस कर रही है। इसके साथ ही वो युवाओं को अपनी तरफ आकर्षित करने के लिए जिप्सी को ही नए कलेवर में उतारने जा रही है। बताया जा रहा है कि भारत में जिप्सी 1.2 लीटर इंजन में आ सकती है। इसके अलावा दुनिया के बाकी देशों में ये 658cc के टर्बोचार्ज्ड इंजन के वैरियंट साथ लॉन्च हो सकती है। इसके अलावा कहा ये भी जा रहा है कि इस कार में 1.0 लीटर बूस्टर जेट इंजन भी एक विकल्प हो सकता है। कहा जा रहा है कि भारत में इस जिप्सी को ऑल व्हील ड्राइव ऑप्शन के साथ और हल्की बॉडी के साथ लॉन्च किया जा सकता है। इसके अलावा इस शानदार कार में 5 स्पीड मैन्युअल ट्रांसमिशन भी फिट किया गया है। इसके अलावा भी इसकी कई खूबियां हैं।

बताया जा रहा है कि इस जिप्सी को डायनामिक ड्राइव देने के लिए और फ्यूल एफिशिएंट बनाने के लिए कंपनी पूरी मेहनत के साथ काम कर रही है। सबसे खास बात ये है कि विदेशी कार जैसी लुक PIC 1- लग्जरी कारवाली इस कार की कीमत बहुत ही कम रखी जा सकती है मीडिया रिपोर्ट का कहना है कि इस कार की कीमत 5 लाख से 8 लाख रुपये के बीच हो सकती है। अब आपको दिल में सवाल होगा कि आखिर ये कार भारत में कब लॉन्च होगी।

रितिक रोशन का किस्सा अब पूरी तरह से खत्म हो चुका है : कंगना रनौत

अभिनेत्री कंगना रनौत का कहना है कि उनके और अभिनेता रितिक रोशन के बीच कथित प्रेम संबंधों का बहुचर्चित मसला अब बीते दिनों की बात है और वह किस्सा अब पूरी तरह समाप्त हो चुका है। पिछले साल दोनों कलाकारों के बीच यह विवाद उस समय शुरू हुआ था जब कंगना ने एक साक्षात्कार में रितिक को ‘सिली एक्स’ कहा था।
मुंबई : अभिनेत्री कंगना रनौत का कहना है कि उनके और अभिनेता रितिक रोशन के बीच कथित प्रेम संबंधों का बहुचर्चित मसला अब बीते दिनों की बात है और वह किस्सा अब पूरी तरह समाप्त हो चुका है। पिछले साल दोनों कलाकारों के बीच यह विवाद उस समय शुरू हुआ था जब कंगना ने एक साक्षात्कार में रितिक को ‘सिली एक्स’ कहा था।

मामला तब और गरमा गया था जब दोनों ने एक दूसरे को कानूनी नोटिस भेज दिए थे। रितिक ने उनसे (कंगना) सार्वजनिक माफी की मांग की थी और किसी भी तरह के संबंधों की बात का खंडन किया था। इस पूरे विवाद के दौरान फिल्म जगत के कई लोगों ने कंगना को कुछ भी सार्वजनिक करने से बचने की सलाह दी थी।

बंद दरवाजे के पीछे मामला निपटाने के सवाल पर कंगना ने कहा, ‘ मुझे कई बड़े लोगों के घर बुलाया गया। मुझे कहा गया कि अगर मैंने अपना मुंह खोला तो मेरा करियर बर्बाद कर दिया जाएगा। लेकिन उन सब बातों का कोई मतलब नहीं है क्योंकि मेरे लिए वह किस्सा खत्म हो चुका है। वह पूरी तरह से समाप्त हो चुका है और उसकी अब कोई प्रासंगिकता नहीं है। ’ उन्होंने कहा, ‘ मेरा समय मुश्किल भरा था लेकिन मैं उससे भयभीत नहीं हुई क्योंकि मुझे पता है कि मैंने कुछ गलत नहीं किया। ’ ऐसी खबरें थीं कि रितिक और कंगना के बीच प्रेमसंबंध ‘क्रिश 3’ की शूटिंग के दौरान शुरू हुए थे।

सुप्रीम कोर्ट पहुंचे रेप के आरोपी मंत्री गायत्री प्रजापति, गिरफ्तारी पर रोक की लगाई गुहार

रेप के आरोपी सपा नेता व यूपी सरकार में मंत्री गायत्री प्रजापति अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए हैं। जानकारी के अनुसार, गायत्री प्रजापति ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर एफआईआर दर्ज करने के आदेश को वापस लेने की गुहार लगाई है। उनकी याचिका पर मंगलवार को सुनवाई हो सकती है।
लखनऊ : रेप के आरोपी सपा नेता व यूपी सरकार में मंत्री गायत्री प्रजापति अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए हैं। जानकारी के अनुसार, गायत्री प्रजापति ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर एफआईआर दर्ज करने के आदेश को वापस लेने की गुहार लगाई है। उनकी याचिका पर मंगलवार को सुनवाई हो सकती है।

प्रजापति का कहना है कि अदालत ने उनका पक्ष जाने बिना आदेश पारित कर दिया। सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को दायर याचिका में प्रजापति ने कहा कि बिना उन्हें नोटिस भेजे बिना और बिना उनका पक्ष जाने फैसला ले लिया गया। इसलिय उक्‍त को आदेश वापस लिया जाए। साथ ही उन्होंने गिरफ्तारी पर रोक लगाने की मांग भी की है।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने एक महिला के साथ कथित रूप से सामूहिक बलात्कार और उसकी बेटी के साथ बलात्कार की कोशिश के आरोप में बीते दिनों सरकार के वरिष्ठ मंत्री गायत्री प्रजापति के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की। उच्चतम न्यायालय ने अपने आदेश में प्रजापति के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया था।

प्रजापति और उनके छह साथियों के खिलाफ पॉक्सो अधिनियम सहित बलात्कार एवं बलात्कार की कोशिश संबंधी विभिन्न धाराओं में गौतमपल्ली पुलिस थाने पर मुकदमा दर्ज किया गया। उच्चतम न्यायालय ने उत्तर प्रदेश पुलिस को निर्देश दिया था कि वह इस मामले में प्राथमिकी दर्ज करके आठ सप्ताह के भीतर मामले की स्थिति रिपोर्ट दाखिल करे।

गौर हो कि गायत्री पर 35 वर्षीय एक महिला का आरोप है कि जब वह उनसे तीन वर्ष 2014 में पहले मिली थी तो उन्होंने उसके साथ बलात्कार किया। गायत्री ने पीडि़ता के कुछ आपत्तिजनक फोटो भी लिये और धमकी दी कि वह इन फोटो को सार्वजनिक कर देंगे। इस धमकी के दम पर वह दो साल तक बलात्कार करते रहे।

पिछले दिनों मुख्यमंत्री अखिलेश ने प्रजापति को मंत्री परिषद से बर्खास्‍त कर दिया था। मगर मुलायम सिंह यादव के दखल के बाद उन्हें पुन: मंत्रिमंडल में शामिल कर लिया गया और वे अमेठी विधानसभा सीट से चुनाव मैदान में हैं।

बीजेपी सांसद योगी आदित्‍यनाथ का विवादित बयान- अखिलेश यादव की तुलना औरंगजेब और कंस से की

बीजेपी सांसद योगी आदित्यनाथ ने एक विवादित बयान देकर यूपी के मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव पर निशाना साधा है। बहराइच में एक रैली को संबोधित करते हुए योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को बिजली के मुद्दे पर अखिलेश सरकार पर जमकर हमला किया।
बहराइच/लखनऊ : बीजेपी सांसद योगी आदित्यनाथ ने एक विवादित बयान देकर यूपी के मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव पर निशाना साधा है। बहराइच में एक रैली को संबोधित करते हुए योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को बिजली के मुद्दे पर अखिलेश सरकार पर जमकर हमला किया।

उन्‍होंने कहा कि कहा कि सपा सरकार के शासन में बिजली के वितरण में जमकर भेदभाव हुआ। दरगाहों को 24 घंटे बिजली दी गई लेकिन मंदिरों में अंधेरा छाया रहा। अखिलेश सरकार ने बिजली देने में भेदभाव किया है। बीजेपी सांसद ने अखिलेश यादव की कंस और औरंगजेब से तुलना की और कहा कि पिता को सत्ता से बेदखल कर अखिलेश ने सत्ता हासिल की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्‍तर प्रदेश को ढाई साल में ढाई लाख करोड़ दिए लेकिन इसमें से अधिकांश पैसा सैफई चला गया। और जो बचा वह कब्रिस्तान की बाउंड्री में लग गया। बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी भी बीते दिनों राज्‍य में बिजली वितरण के मुद्दे पर अखिलेश सरकार पर हमला बोल चुके हैं।

बाद में उन्‍होंने एक और जनसभा में कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी पर भी निशाना साधते हुए कहा कि वे कांग्रेस के लिए सबसे बड़े अपशकुन हैं। यदि वह (राहुल) किसी प्रत्याशी के प्रचार में निकल जाएं तो समझ लो उसकी हार पक्की है।

इससे पहले, कानपुर में एक रैली के दौरान सपा की सरकार पर उत्तर प्रदेश में दंगे कराये जाने का आरोप लगाते हुये भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि सपा और बसपा ने प्रदेश के बहुसंख्यकों को अपमानित करने का काम किया है। इसलिये सभी लोग संकल्प लें, ऐसे राजनीतिक दलों को सत्ता से दूर रखें और सबकी सुरक्षा सबका विकास का नारा देने वाली भारतीय जनता पार्टी की सरकार उत्तर प्रदेश में बनाएं।

जम्मू-कश्मीर : LoC पर एक आतंकी मारा गया, घुसपैठ की कोशिश नाकाम

जम्मू के राजौरी के केरी सेक्टर मे एलओसी पर बीएसएफ (बोर्डर सेक्यूरिटी फोर्स) ने एक आतंकी को मार गिराया और घुसपैठ की कोशिश को नाकाम कर दिया। सोमवार देर रात को बीएसएफ के जवानों ने एलओसी पर कुछ संदिग्ध हरकत देखी। रिपोर्ट के मुताबिक तीन से चार आतंकी फेंस के अंदर घुसने की कोशिश कर रहे थे जब उन्होंने जवानों को देखा तो उनपर गोलीबारी शुरू कर दी।

राजौरी : जम्मू के राजौरी के केरी सेक्टर मे एलओसी पर बीएसएफ (बोर्डर सेक्यूरिटी फोर्स) ने एक आतंकी को मार गिराया और घुसपैठ की कोशिश को नाकाम कर दिया। सोमवार देर रात को बीएसएफ के जवानों ने एलओसी पर कुछ संदिग्ध हरकत देखी। रिपोर्ट के मुताबिक तीन से चार आतंकी फेंस के अंदर घुसने की कोशिश कर रहे थे जब उन्होंने जवानों को देखा तो उनपर गोलीबारी शुरू कर दी।

करीब आधे घंटे तक आतंकियों ने बीएसएफ जवानों पर भारी गोलाबारी की लेकिन जवाबी कार्रवाई मे एक आतंकी मारा गया और बाकी बचे हुए आतंकी जंगल का फायदा उठाकर भाग गए। सुबह उस इलाके की तलाशी ली गयी तो वहां से एक वाटर प्रूफ काला बैग मिला। एक नाईट विजन डिवाइस ,मोनोकुलर,एक एक -47 राइफल मैगजीन के साथ मिली। इसके अलावा ड्राई फ्रूट्स और जूस भी वहां से मिला। शव के साथ एक-47 राइफल भी कारतूस के साथ बरामद किया गया।

इस तरह सेना ने आतंकी को ढेर करने के साथ सीमापर घुसपैठ की कोशिश को भी नाकाम कर दिया। गौर हो कि पिछले 50 दिनों मे सुरक्षा बलों ने 22 से अधिक आतंकी मार गिराए है । मारे गए आतंकियों का ये आंकड़ा 2010 के बाद सबसे अधिक है।

यूपी चुनाव 2017: पीएम मोदी ने मायावती पर किया प्रहार, बोले- अब ‘बहनजी संपत्ति पार्टी’ बन गई है बसपा


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को सपा, बसपा और कांग्रेस को एक ही थाली के ‘चट्टे बट्टे’ बताते हुए बुंदेलखण्ड की बदहाली के लिये इन्हीं तीनों को जिम्मेदार ठहराया। मोदी ने बुंदेलखण्ड क्षेत्र में आने वाले उरई में आयोजित चुनावी सभा में कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस की सरकार में पूरे बुंदेलखण्ड में सब कुछ तबाह हो गया है। बुंदेलखण्ड के लिये उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव एक बहुत बड़ा फैसला है। उसे तय करना है कि सपा, बसपा के चक्कर से निकलना है कि नहीं।
उरई (जालौन) : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को सपा, बसपा और कांग्रेस को एक ही थाली के ‘चट्टे बट्टे’ बताते हुए बुंदेलखण्ड की बदहाली के लिये इन्हीं तीनों को जिम्मेदार ठहराया। मोदी ने बुंदेलखण्ड क्षेत्र में आने वाले उरई में आयोजित चुनावी सभा में कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस की सरकार में पूरे बुंदेलखण्ड में सब कुछ तबाह हो गया है। बुंदेलखण्ड के लिये उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव एक बहुत बड़ा फैसला है। उसे तय करना है कि सपा, बसपा के चक्कर से निकलना है कि नहीं।

उन्होंने कहा कि परमात्मा ने बुंदेलखण्ड को बाकी सब कुछ दिया लेकिन जनता ने प्रदेश में ऐसी सरकारें बनायी हैं, जिन्होंने इस क्षेत्र को तबाह कर दिया है। सपा, बसपा, कांग्रेस सभी एक ही सिक्के के अलग-अलग पहलू हैं, वे एक ही थली के चट्टे बट्टे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि उनका वादा है कि जब उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार बनेगी तो मुख्यमंत्री कार्यालय के अधीन एक स्वतंत्र बुंदेलखण्ड विकास बोर्ड बनाया जाएगा। साथ ही क्षेत्र में फलफूल रहे अवैध खनन पर सैटेलाइट के जरिये निगरानी करके ना सिर्फ रोक लगायी जाएगी बल्कि इस कारोबार में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

उन्होंने बसपा पर निशाना साधते हुए कहा कि अब तो बसपा का नाम ही बदल गया है। अब वह बहुजन समाज पार्टी नहीं बल्कि ‘बहनजी सम्पत्ति पार्टी’ बन गयी है। जो लोग अपने ही खजाने भरना चाहते हैं क्या वह लोग आपकी समस्याओं का समाधान कर सकते हैं? बुंदेलखण्ड के लोग यह बताएं कि जो अपने लिये धन जमा करते हैं, वे आपकी समस्या का कभी समाधान करेंगे क्या। मोदी ने कहा कि बुंदेलखण्ड ने सपा, बसपा, कांग्रेस को देख-परख लिया है। वे पीने का पानी तक नहीं दिला पाए, क्या उनके भरोसे आगे भी आपकी गाड़ी चलेगी। बुंदेलखण्डवासियों से आग्रह है कि 70 साल में बुंदेलखण्ड की जो बरबादी हुई है, उसे पांच साल में ठीक करना है, बुंदेलखण्ड को गड्ढे से बाहर निकालना है तो दिल्ली के साथ-साथ प्रदेश में भी ‘भाजपा का इंजन’ लगाना होगा।

मोदी ने अपनी ‘स्कैम’ सम्बन्धी टिप्पणी का एक बार फिर जिक्र किया कि भाजपा की लड़ाई स्कैम के खिलाफ है। अंग्रेजी के शब्द स्कैम में चार अक्षर होते हैं। एस- समाजवादी, सी-कांग्रेस, ए-अखिलेश, एम-मायावती। इस देश में घोटालों में भी ईमानदारी और सेवा का भाव देखने वाले एक नेता को यह भी समझ नहीं आया। उन्होंने कहा कि स्कैम सेवा है। इस चुनाव में जनता के पास स्कैम को प्रदेश से पूरी तरह निकालने का मौका है। इस स्कैम को बुंदेलखंड से बाहर फेंक दीजिये। मोदी ने दावा किया कि बुंदेलखण्ड को भी बदहाली के दौर से निकालकर विकास के मामले में अव्वल बनाया जा सकता है। अगर बुंदेलखंड को फलना फूलना है तो उसे अव्यवस्था से बाहर निकालने के लिए दो इंजनों उत्तर प्रदेश और केंद्र में भाजपा की सरकार की जरूरत होगी। खनिज बहुल बुंदेलखंड उत्तर प्रदेश का चेहरा बदल सकता है, अवैध खनन को भी रोकना होगा। पांच साल में हम उस बुंदेलखंड को बदल कर रख देंगे जिसने पिछले 70 साल से कोई विकास नहीं देखा है।

उन्होंने गुजरात के कच्छ का उदाहरण देते हुए कहा कि ‘गुजरात में कच्छ नामक जिला है, वहां बहुत बड़ा रेगिस्तान है। वर्ष 2001 में वहां भूकम्प आने के बाद हमने काम किया। कच्छ आज देश के सबसे तेज गति से जाने वाले जिलों में शामिल है। अगर इरादा नेक हो, विकास का विजन साफ हो और संकल्प शक्ति हो, तो कितने भी पिछड़े क्षेत्र को विकसित किया जा सकता है।

मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के थाने सपा या बसपा की सरकार में उनके दफ्तरों में तब्दील हो जाते हैं। बाहुबली लोग गरीबों और निर्दोषों की जमीनों को गैर-कानूनी तरीके से कब्जा कर लेते हैं। भाजपा का वादा है कि प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद ऐसे लोगों के खिलाफ बहुत बड़ी मुहिम चलायी जाएगी। इसके लिये एक विशेष प्रकोष्ठ बनाया जाएगा और कब्जे वाली जमीन को उसके असली मालिक को दिलाया जाएगा। प्रधानमंत्री ने दावा किया कि प्रदेश में तीन चरणों के चुनाव से साफ हो गया है कि राज्य में भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनेगी।

समाजवादी पार्टी नेता राजेंद्र चौधरी का आपत्तिजनक बयान, PM नरेंद्र मोदी और अमित शाह को बताया आतंकी

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता राजेंद्र चौधरी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के खिलाफ आपत्तिजनक बयान देकर विवादों में घिर गए हैं। सपा के मुख्य प्रवक्ता एवं अखिलेश यादव के करीबी माने जाने वाले राजेंद्र चौधरी ने पीएम मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को आतंकी करार दे दिया है। उन्होंने कहा कि दोनों आतंक पैदा करते हैं।
नई दिल्ली: समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता राजेंद्र चौधरी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के खिलाफ आपत्तिजनक बयान देकर विवादों में घिर गए हैं। सपा के मुख्य प्रवक्ता एवं अखिलेश यादव के करीबी माने जाने वाले राजेंद्र चौधरी ने पीएम मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को आतंकी करार दे दिया है। उन्होंने कहा कि दोनों आतंक पैदा करते हैं।

रविवार को तीसरे चरण के मतदान के बाद मीडिया से बात करते हुए चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह दोनों आतंकवादी हैं। चौधरी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में गुजरात के दो जादूगर जोर-शोर से घूम रहे हैं। इनको लगता है कि उत्तर प्रदेश का वोटर राजनीति नहीं जानता और उसको गुमराह किया जा सकता है, लेकिन यहां का मतदाता राजनीति की मर्यादा के खिलाफ काम करने की अनुमति नहीं देगा। जनता को गुमराह करना एक राजनीतिक अपराध है। इन जादूगरों को अपनी रोजी-रोटी के लिए दूसरा धंधा अपनाना चाहिए।